टेरेंस लुईस की डॉक्यूमेंट्री इंडियन मैन की कोरियोग्राफर ब्रिगेड ने की दिल खोलकर तारीफ

बॉलीवुड इंडस्ट्री ही नहीं टेलीविजन की दुनिया में भी अपनी एक अलग पहचान रखने वाले मशहूर कोरियोग्राफर टेरेंस लुईस की फिल्म पर आधारितडॉक्यूमेंट्री का प्रीमियर मुंबई में हुआ, और इस दौरान पूरे टिनसेल-टाउन ड

author-image
By NewsOnFloor
New Update
टेरेंस लुईस की डॉक्यूमेंट्री इंडियन मैन की कोरियोग्राफर ब्रिगेड ने की दिल खोलकर तारीफ

बॉलीवुड इंडस्ट्री ही नहीं टेलीविजन की दुनिया में भी अपनी एक अलग पहचान रखने वाले मशहूर कोरियोग्राफर टेरेंस लुईस की फिल्म पर आधारितडॉक्यूमेंट्री का प्रीमियर मुंबई में हुआ, और इस दौरान पूरे टिनसेल-टाउन डांसिंग ब्रिगेड ने फ्रेंच डायरेक्टर पियरे एक्स गार्नियर द्वारा निर्देशित दिल को छूलेने वाली और शानदार कहानी की सराहना की है।

इस मौके पर राघव जुगल, गीता कपूर, उमंग कुमार और अन्य हस्तियों ने मुंबई में रेड-कार्पेट प्रीमियर में अपनी मौजूदगी दर्ज करवाते हुए शोभा बढ़ाई

हाल ही में पेरिस में "टेरेंस लुईस - इंडियन मैन" नाम की एक डॉक्यूमेंट्री का पहली बार प्रीमियर हुआ, जहां इसने खूब वाहवाही लूटी और सबकी तारीफबटोरी और जिसके बाद अब इंडिया में इसका प्रीमियर किया गया। इस प्रोजेक्ट में टेरेंस लुईस की एक झलक दिखाई गई है, जो स्पॉटलाइट में रहनेवाली जिंदगी की क्रेजी स्पीड और ग्लैम से बिल्कुल अलग है

इस डॉक्यूमेंट्री के बारे में बात करते हुए प्रीमियर पर मौजूद जाने-माने डांसर, कोरियोग्राफर और एक्टर राघव जुयाल ने कहा, “फिल्म ने मेरे रोंगटे खड़े करदिए, यह आपको हंसाती है और रुलाती है। यह एक हॉनेस्ट फिल्म है, यहगीता कपूर, डॉक्यूमेंट्री है और मुझे इसे देखने में बहुत मजा आया। फिल्म के डायरेक्टरपियरे ने रिमार्केबल काम किया है।"

वहीं गीता कपूर, जो एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में एक जाना माना और रिस्पेक्टेड नाम है, वो प्रीमियर पर इमोशनल हो गईं और कहा,”हमारे ही फील्ड, डांस और कोरियोग्राफी के लोग, लोगों को उनकी कहानी बताने के लिए डाक्यूमेंट्री नहीं बना पातेहै , और मुझे बहुत खुशी है कि टेरेंस को ये मौका मिला । अब समय आ गया है कि लोग दुनिया को हमारे नज़रिये से भी देखे ।"

इस डॉक्यूमेंट्री के साथ, फिल्म प्रोड्यूसर पियरे एक्स.गार्नियर ने टेरेंस लुईस और उनकी इनर वर्ल्ड के गहन, सटल और साइलेंट नजरिए को पकड़ लियाहै, जिससे ज्यादातर लोग अंजान थे और वो भी अपने ही स्टाइल के डाक्यूमेंट्री सिनेमा में |

खुद टेरेंस ने अपनी डॉक्यूमेंट्री और इसको मिले रिस्पॉन्स के बारे में बात करते हुए, बताया "मैं थोड़ा डरा हुआ था, क्योंकि यह डॉक्यूमेंट्री है, इसलिए यहस्लो है और इसे एक फ्रेंच डायरेक्टर ने बनाया है, इसलिए यह स्लो पेस्ड, मीनिंगफुल है और इसमें गहरी विचारशीलता है, इसलिए मैं डरा था किऑडियंस कहीं बोर न हो जाएं, लेकिन सब समझ गए हैं कि हम सब खड़े-खड़े दौड़ रहे हैं, जिंदजी में शांति पाने के लिए हर कोई इधर-उधर भाग रहा है।”

Latest Stories