एक लाख दहेज के लिए दिया ट्रिपल तलाक, फिर देवर से हलाला का दबाव

नोएडा। ग्रेटर नोएडा महज एक लाख रुपये दहेज नहीं देने पर तीन तलाक का मामला सामने आया है। महिला ने विरोध किया तो दोबारा निकाह के लिए देवर से हलाला का दबाव बनाया जाने लगा। मारपीट शुरू हुई तो महिला शिकायत लेकर दादरी थाने पहुंची। पुलिसवालों ने वहां से दनकौर थाने भेज दिया।

महिला थानों का चक्कर लगाकर थक गई तो शिकायत लेकर एसएसपी वैभव कृष्ण के पास पहुंची। उनके आदेश पर एसपी देहात रणविजय सिंह ने दादरी थाने में केस दर्ज करने को कहा। लोकसभा के बाद मंगलवार को राज्यसभा में भी ट्रिपल तलाक बिल पास हो गया।

पूरे देश में अभी यह मसला चर्चा का विषय बना हुआ है, फिर भी पुलिस गंभीर नहीं है। एनबीटी की रिपोर्ट के अनुसार ऊंची दनकौर निवासी हाजी जहूर ने अपनी बेटी समीना और शबाना का निकाह दादरी के नई आबादी निवासी इकबाल व इदरीश से करीब 14 साल पहले की थी।

जहूर का आरोप है कि शादी के बाद से ही समीना के पति इकबाल और अन्य लोग दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे। शुरुआत में बेटी का घर बचाने के लिए रुपये दिए भी। बाद में मारपीट भी करने लगे तो कोर्ट में वाद दायर कर दिया। बाद में समझौता हुआ तो सब शांत हो गया।

आरोप है कि 27 जुलाई की रात 8 बजे दोनों बेटियों के साथ फिर मारपीट की गई। इस बीच इकबाल ने समीना को ट्रिपल तलाक दे दिया। फिर मारपीट कर घर में ही बंधक बना लिया। किसी तरह शबाना ने जहूर से शिकायत की तो उन्होंने दादरी पुलिस की मदद से दोनों बेटियों को मुक्त कराया।

Related News

Leave a Comment