ससुर के साथ आपत्तिजनक स्थिति में मिली महिला, शौहर ने दिए तीन तलाक़

एक शख्स ने पुलिस अधीक्षक को प्रार्थनापत्र देकर बीवी व पिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने का आग्रह किया है। शनिवार को दीवानी न्यायालय पहुंचे शौहर ने कहा कि उसके पास और कोई चारा ही नहीं बचा था। जब उससे कहा गया कि तत्काल तीन तलाक पर सजा का कानून बन गया है तो उसका जवाब था कि जो सजा उसकी पत्नी व पिता ने दी है, कोई भी सजा इससे बड़ी नहीं हो सकती।

शौहर ने पुलिस अधीक्षक को रजिस्टर्ड पत्र के जरिए पूरा वाकया बताया है। उसके मुताबिक उसका निकाह 12 साल पहले हुआ था। कुछ वर्ष घर पर बीवी के साथ हंसी-खुशी बिताने के बाद वह रोजी-रोटी के सिलसिले में सऊदी अरब चला गया था। आरोप है कि उसकी बीवी का नाजायज संबंध उसके पिता से हो गया।

बीमारी के कारण वह सऊदी अरब से वापस घर चला आया। लौटने पर पड़ोस के लोगों ने उससे यह बात कही लेकिन उसे यकीन नहीं हुआ।

गत 25 अगस्त को बीवी से दूसरे दिन लौटने की बात कहकर वह किसी आवश्यक कार्य से वाराणसी गया था। उसी दिन काम हो जाने पर रात वह घर पहुंचा तो उसने कमरे में अपनी बीवी व पिता को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया। उसी समय उसने बीवी को तलाक दे दिया।


उसका आरोप है कि पिता व पत्नी ने मिलकर उसकी पिटाई कर दी। लोगों ने बीच-बचाव किया। उसका आरोप है कि पिता ने उससे कहा, 'मैंने तुम्हारी बीवी को रख लिया है और उसी से तुम्हारे खिलाफ मुकदमा दर्ज कराकर जेल भिजवा दूंगा।'

Related News

Leave a Comment