युवती ने घर से भागकर नेत्रहीन युवक से रचाई शादी

नई दिल्ली। राजस्थान के सीकर जिले के गांव परडोली में एक युवती ने एक नेत्रहीन युवक से विवाह रचाया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सीकर सदर थानाधिकारी करण सिंह खंगारोत ने बताया कि परडोली निवासी एक युवती सुमन के परिजनों ने उसकी ​गुमशुदगी दर्ज करवाई थी, जिस पर टीम गठित कर युवती की तलाश शुरू की गई तो वह झुंझुनूं जिले के सूरजगढ़ थाना इलाके गांव लोटिया निवासी संदीप के रहती मिली। संदीप नेत्रहीन है।
पुलिस जांच में सामने आया कि सुमन ने घर से भागकर संदीप के साथ मेरठ में आर्य समाज में विवाह कर लिया और फिर संदीप के साथ उसके घर रहने लगी। 
पुलिस ने संदीप व सुमन को गांव लोटिया से दस्तयाब किया। इसके बाद सुमन ने वापस संजीव के साथ ही रहना स्वीकार किया और कहा कि वह स्वेच्छा से उसके साथ आई थी और उसने मेरठ के आर्य समाज में विवाह कर लिया है और वे उसके साथ ही उसके घर पर रहना चाहती है।
सीकर सदर थानाधिकारी करण सिंह खंगारोत ने बताया कि युवक और युवती की मुलाकात एक दोस्त के जरिए किसी मंदिर में हुई थी। फिर दोनों के बीच बातों और मुलाकातों का सिलसिला शुरू हुआ। दोस्ती प्यार में बदल गई और दोनों आंखों से नेत्रहीन युवक के साथ युवती ने जिंदगी ​बिताने का फैसला ले लिया। 
24 वर्षीय यह युवती किसी तरह से शारीरिक रूप से असक्षम नहीं है, जबकि युवक पूरी तरह नेत्रहीन है। युवती ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वह युवक से सच्चा प्यार करती है। इसलिए शादी कर ली अब वह अपने पति का सहारा बनेगा और उसके लिए नौकरी-मजदूरी करनी पड़ी तो वो भी करेगी।

Related News

Leave a Comment