घर छोड़ कर भागी बेटी का पिता ने जीते जी कर डाला अंतिम संस्कार

मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में एक पिता ने अपनी बेटी के घर छोड़ कर चले जाने से नाराज होकर उसका जीते जी अंतिम संस्कार कर उसे मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि पिता ने समाज में बदनामी से बचने के लिए अपनी बेटी को अपने और अपने परिवार के लिए मृत घोषित करते हुए उससे नाता तोड़ लिया।

पिता ने अपनी बेटी के अंतिम संस्कार के कार्यक्रम की सूचना कार्ड छपवाकर दी। ये कार्ड परिजनों को बेटी के अंतिम संस्कार में आने के निमंत्रण स्वरूप पिता ने छपवाए थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पिता को कुचरोड गांव के निवासी गोपाल मंडोरा के रूप में पहचाना गया है। बीते शुक्रवार को पिता ने अपनी 19 साल की बेटी शारदा मंडोरा का अंतिम संस्कार गांव के सामुदायिक केंद्र में किया। इसके साक्षी वो सभी गांव वाले और परिजन थे जिन्हें पिता ने अपनी बेटी के अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में बुलाया था।

बेटी के घर छोड़ कर चले जाने के बाद पिता गोपाल मंडोरा ने पहले तो पूरे गांव में ये घोषणा करवा दी कि अब वो उनकी बेटी नहीं है न ही उसका हमारे परिवार से कोई नाता रह गया है। इसके बाद पिता ने अंतिम संस्कार के कार्यक्रम का ब्योरा कार्ड में छपवाकर पूरे गांव और अपने सभी परिजनों में बंटवा दिए। जिसके बात नियत तिथि में पिता ने पूरे गांव के सामने अपनी जिंदा बेटी का अंतिम संस्कार कर दिया।

पिता की इस हरकत को सोशल मीडिया पर शेयर कर उसकी आलोचना कर रहे हैं। लोग पिता की संकुचित मानसिकता पर सवाल करते हुए उसे दोषी ठहरा रहे हैं। वहीं अभी तक इस मामले में पुलिस के संज्ञान की कोई खबर नहीं है।

Related News

Leave a Comment