दूसरे बैंक के एटीएम से पैसा निकालने पर चार्ज कम होगा!

नई दिल्ली। एनईएफटी और आरटीजीएस पर पैसा ट्रांसफर करने पर चार्ज खत्म करने के बाद अब आरबीआई दूसरे बैंक के एटीएम से पैसा निकालने पर लगने वाला चार्ज कम कर सकता है। सूत्रों के अनुसार, इसकी घोषणा अगले महीने हो सकती है। दरअसल, एटीएम चार्ज की समीक्षा को लेकर बनाई गई कमिटी ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर ली है। इसमें चार्ज कम करने की सिफारिश की गई है। कमिटी जल्द ही अपनी रिपोर्ट आरबीआई को सौंप सकती है।
सूत्रों के मुताबिक, एटीएम चार्ज को पूरी तरह नहीं हटाया जाएगा, बल्कि कम किया जाएगा। कमिटी ने इस आधार पर इंटरचेंज फीस स्ट्रक्चर की समीक्षा की है कि पिछले कुछ समय में एटीएम का इस्तेमाल कितना बढ़ा है। इंटरचेंज फीस स्ट्रक्चर से ही तय होता है कि दूसरे बैंक का एटीएम इस्तेमाल करने पर उपभोक्ता को कितना चार्ज चुकाना होगा।
फिलहाल दूसरे बैंक के एटीएम से ट्रांजैक्शन पर एक तय संख्या तक कोई चार्ज नहीं लिया जाता है। इस सीमा के पार होने पर बैंक फीस वसूलते हैं। हर बैंक ने इसके लिए अपना स्ट्रक्चर तय किया हुआ है। कुछ प्राइवेट बैंक, मौजूदा समय में मेट्रो शहरों में महीने के पहले तीन ट्रांजैक्शन्स पर कोई चार्ज नहीं लेते, वहीं दूसरे शहरों में उन्होंने पांच ट्रांजैक्शन तक फ्री सेवाएं दे रखी हैं। इसके बाद प्रति ट्रांजैक्शन 20 रुपये की फीस वसूली जाती है।
नॉन-फाइनैंशल ट्रांजैक्शन पर यह 8.50 रुपये है। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई में छह बड़े मेट्रो शहरों में महीने के तीन ट्रांजैक्शन मुफ्त होते हैं। दूसरी जगहों पर महीने के पहले पांच ट्रांजैक्शन मुफ्त होते हैं। इसके बाद बैंक 20 रुपये (जीएसटी अतिरिक्त) की दर से ट्रांजैक्शन चार्ज लिया जाता है।

Related News

Leave a Comment