बेटियों का सम्मान ही देश का सम्मान है : लक्ष्य

सीतापुर।   लक्ष्य की महिला टीम ने " मोहल्ले मोहल्ले भीम चर्चा"  अभियान के तहत लक्ष्य कमांडर मुन्नी बौद्ध के नेतृत्व में एक भीम चर्चा का आयोजन सीतापुर के पंचमपुरवा बौद्ध विहार में किया |

बेटियों का सम्मान ही, देश का सम्मान है अर्थात जिस देश में बेटियों  का सम्मान होता है और बेटियां  अपने को सुरक्षित महसूस करती हों वही समाज व् देश विश्व में सम्मानित होता है और विपरीत इसके जिस देश में बेटियों का सम्मान न होता हो आये दिन उनके साथ भेदभाव व्  बलत्कार  होता हो और सरकार भी दबंगो के साथ खड़ी दिखाई दे तथा  बेटियां अपने आप को सुरक्षित महसूस न करती हों ऐसी स्थिति में उस  समाज व्  देश का सम्मान नहीं हो सकता यह बात लक्ष्य कमांडरों ने अपने सम्बोधन में कही |

लक्ष्य कमांडरों ने बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेकडर को याद करते हुए कहा कि बाबा साहब ने देश में महिलाओ को भी समानता का अधिकार दिया और इस समानता के अधिकारों को दिलाना सरकार की जिम्मेदारी है और उनको ईमानदारी के साथ बेटियों की सुरक्षा करनी चाहिए | उन्होंने कहा कि बाबा साहब ने कहा था  कि किसी देश की उन्नति उस देश की महिलाओ के विकास से देखा जा सकता है |

लक्ष्य की महिला कमांडरों ने उन्नाव बलात्कार केस पर दुःख प्रकट करते हुए कहा कि ऐसी घटनाएं  सभ्य समाज में  नहीं होती हैं जिसमें बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार हुआ और जिसका आरोपी सरकार का ही विधायक है और  जिसमें सरकार  दबंगो के साथ खड़ी दिखाई दी और उस पीड़िता के परिवार के कई सदस्यों व् रिश्तेदारों  की हत्या हो गई | उन्होंने कहा कि बेटियों की सुरक्षा के लिए सरकार को अपनी इच्छा शक्ति को मजबूत करना होगा |

इस भीमचर्चा में लक्ष्य कमांडर मुन्नी बौद्ध, रुपांशी गौतम, एडवोकेट जयश्री आनंद, सुमन गौतम, गीता गौतम, गीता देवी, प्रियंका गौतम, सरोजनी गौतम, प्रसेनजीत गौतम, राम राज गौतम, निर्मला देवी,  सुरेश कुमार, श्रीपाल गौतम, विसम्भर गौतम व् एडवोकेट गोपनाथ ने हिस्सा लिया |

Related News

Leave a Comment