दहेज के लिए फोन पर दिया तीन तलाक, शौहर पर मामला दर्ज

राकेश पाण्डेय
राज्यसभा में तीन तलाक का बिल पारित होते ही मुस्लिम महिलाएं अपने आप को सुरक्षित महसूस करते हुए  खुशी मना रही  थी लेकिन उन्हें क्या मालूम कि आज भी कानून को ठेंगा दिखाने वाले लोग इस समाज में बैठे हुए हैं जिसका ताजा उदाहरण उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे जिला बाराबंकी में देखने को मिला जहां एक मुस्लिम महिला को फोन पर ही तलाक तलाक तलाक बोलकर तलाक दे दिया गया।

तीन तलाक के बोझ का दर्द झेल रही पीड़ित महिला के अनुसार बताया जा रहा है कि पीड़िता के परिजनों से 1 लाख रुपये नगद व एक मोटरसाइकिल की मांग की जा रही थी। परिजन मोटरसाइकिल व नगदी देने में असमर्थ थे जिसके चलते फोन पर  तलाक दे दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 1 मई 2017 को पीड़िता की शादी मुस्लिम रीति-रिवाज के अनुसार इमरान खान पुत्र समीम खान निवासी मोहम्मद हाजी कॉलोनी दुबग्गा मछली मंडी थाना ठाकुरगंज लखनऊ से हुई थी पीड़िता के मुताबिक बताया जा रहा है की मोहम्मद इमरान खान व अन्य लोगों के द्वारा भद्दी भद्दी गालियां देते हुए दहेज की मांग कर रहे थे और धमकी देते हुए कहा जा रहा था कि अगर दहेज लेकर नहीं आई तो तेल डालकर आग लगा दिया जाएगा इसी दौरान इमरान खान  के द्वारा  पीड़िता को उसके घर बाराबंकी के सफदरगंज थाना क्षेत्र छोड़ गए।

जिसके बाद 3 अगस्त 2018 को पीड़िता की सहेली के नंबर पर इमरान खान ने फोन करके बात कराने की बात कही बात करने के दौरान  इमरान खान ने गाली गलौज करते हुए उसे तीन बार तलाक बोलकर तलाक दे दिया जिसकी रिकॉर्डिंग पीड़िता ने चतुराई पूर्वक कर ली थी ।

फिलहाल बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर के मामला संज्ञान में आने के बाद आकाश तोमर ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मुकदमा दर्ज करने के निर्देश सफदर दज थाना पुलिस को दे दिया था जिस पर  पुलिस ने संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। 

Related News

Leave a Comment