पहले पूछा मियां जी हो?, फिर पीट-पीट कर दिया मुस्लिम शख्स को लहूलुहान

देश भर में मुस्लिमों पर हो रहे नस्लीय हमले रुकने का नाम नहीं ले रहे है। झारखंड के तबरेज अंसारी की ह’त्या के बाद मुस्लिमों पर होने वाले इन हमलों का मुद्दा अंतराष्ट्रिय रूप धारण कर चुका है। बावजूद केंद्र की मोदी सरकार मुस्लिमों के खिलाफ जारी हिंसा को रोकने के लिए कोई खास कदम नहीं उठा रही है।

एक बार फिर से बिहार में एक मुस्लिम युवक को निशाना बनाया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार नवादा से ‘धर्म के आधार’ पर गोंदापुर मुहल्ले में गुरूवार को तीन बजे के क़रीब 28 साल के जावेद नसीम की पिटाई की गई।  जिसमे बुरी तरह से घायल जावेद का अब नवादा के सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में जावेद घटना को लेकर कह रहा है कि ‘वो अपने घर से जा रहा था कि क़रीब तीन बजे दिन में अचानक दस लड़के मेरी गाड़ी के क़रीब आए और पूछने लगे कि ‘तुम मियां जी है रे?’ मैंने डर से झूठ बोल दिया कि हम मियां जी नहीं हैं. लेकिन फिर भी दो-तीन लड़का बोला कि ये मियां जी है। मार… मार…  फिर सब मिलकर इतना मारा कि मेरे अंदर भागने की भी हिम्मत नहीं बची। तीन-चार जगह से सर फट गया. जबकि क़रीब में कई लोग खड़े थे. लेकिन किसी ने मुझे बचाया नहीं।’

उन्होने कहा, ‘मेरा गाड़ी भी तोड़ दिया। और मेरा मोबाईल भी छीन लिया गया है।’ ये पूछने पर कि पहले से कोई लड़ाई थी क्या? इस पर जावेद का कहना है, ‘पहले से किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। उस मुहल्ला में सब मुझे अच्छे से जानते हैं. जिस रास्ते पर ये घटना घटी, उस रास्ते से मैं पिछले चार सालों से आना-जाना कर रहा हूं।’

इस घटना का वीडियो सामाजिक कार्यकर्ता डॉ इमरान ने शेयर किया है। उन्होने ट्वीट किया, हर दूसरे दिन मुसलमानों की #MobLynching हो रही है,अहंकारी निरंकुश सत्ता पक्ष तथा सत्ता के समक्ष नतमस्तक विपक्ष ने #मुसलमानो की #MobLynching को Socially Accepted बना दिया है ! न्यायप्रिय #हिन्दू भाईयों को खुलकर #MobLynching के खिलाफ #मुस्लिमों के साथ खड़ा होना चाहिये #NotInMyName

Related News

Leave a Comment