जुमला या हकीकत: पत्रकारों की सुरक्षा के लिए उत्तर प्रदेश में जारी होगी एडवाइजरी!

राकेश पाण्डेय
पत्रकार से मारपीट के मामले में दोषी पुलिस कर्मियों पर होगी कठोर कार्रवाई पिंक सिटी प्रेस क्लब,जार, श्रमजीवी पत्रकार यूनियन और आईएफडब्ल्यूजे की ओर से पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर दिया गया ज्ञापन
सम्मानीय साथियों,पत्रकारों का एक प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के पुलिस मुखिया डीजीपी से मुलाकात की।

सभी जिलों के एसपी ,डीएम एडवाइजरी जारीकरे:डीजीपी

डीजीपी ने पत्रकारों की सुरक्षा के लिए समस्त जिलों के एसपी समेत उच्च अधिकारियों को एक एडवाइजरी जारी करने के निर्देश दिए हैं।वही दैनिक भास्कर के फोटो जर्नलिस्ट अनिल शर्मा के साथ पुलिस जीप में मारपीट करने वाले सभी पुलिसकर्मियों को चिन्हित कर निलंबित करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। डीजीपी ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि अब पूरे प्रदेश में पत्रकारों की सुरक्षा का जिम्मा उनका होगा।डीजीपी ने निर्देश जारी किए कि पत्रकार और पुलिस एक आईने के दो प्रतिबिंब है।

प्रतिनिधिमंडल में प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह राठौड़, प्रेस क्लब उपाध्यक्ष बबीता शर्मा देवेंद्र सिंह, श्रमजीवी के प्रदेश अध्यक्ष हरीश गुप्ता , प्रेस क्लब के कोषाध्यक्ष रघुवीर जांगिड़,, प्रेस के पूर्व महासचिव मुकेश मीणा, जार के प्रदेश महामंत्री संजय सैनी, प्रेस क्लब के कार्यकारिणी सदस्य पुष्पेंद्र सिंह राजावत, अनीता शर्मा, दिनेश कुमार अधिकारी, पूर्व कार्यकारणी सदस्य रामेंद्र सिंह सोलंकी, फोटोजर्नलिस्ट सुनील शर्मा, पंकज शर्मा, दिनेश डाबी, रेखराज चौहान, सुनील त्रिवेदी, मतीश पारीक आदि पत्रकार उपस्थित थे।

Related News

Leave a Comment