मस्जिद में सो रहे इमाम और उनकी पत्नी की हत्या

सोनीपत। गांव मनिक माजरी में मस्जिद के पीछे बने कमरे में सो रहे इमाम और उनकी पत्नी की अज्ञात हमलावरों ने धारदार हथियार से हमला कर निर्मम हत्या कर दी।

रविवार सुबह जब लोग मस्जिद में पहुंचे तो उन्हें वारदात का पता लगा। उन्होंने मामले की सूचना थाना गन्नौर पुलिस में दी।

सूचना मिलते ही डीएसपी हेड क्वार्टर जितेंद्र कुमार और गन्नौर थाना प्रभारी दिनेश कुमार टीम के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने एफएसएल की टीम को मौके पर बुलाकर सबूत जुटाए। बाद में शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया। पुलिस ने ग्रामीण खुर्शीद की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार मूलरूप से पानीपत के गांव मोहाली निवासी इरफान (38) चार वर्षों से मानिक माजरी गांव की मस्जिद में रह रहे थे। वह मस्जिद में इमाम थे। वह अपनी पत्नी यास्मीन उर्फ मीना (24) के साथ मस्जिद के पीछे बने कमरे में रहते थे।

इरफान सुबह अजान पढ़ता था, लेकिन रविवार की सुबह इरफान ने अजान नहीं पढ़ी। समुदाय के लोग मस्जिद पहुंचे तो वहां इरफान नहीं मिला। वह उसे देखने इरफान के कमरे में गए तो वहां इरफान और उनकी पत्नी यास्मीन के शव खून से लथपथ पड़े थे। कमरे में भी हर तरफ खून बिखरा था।

उन्होंने मामले की सूचना गांव आहुलाना के सरपंच हरेंद्र को दी। जिस पर थाना गन्नौर पुलिस को अवगत कराया गया। सूचना के बाद डीएसपी हेड क्वार्टर जितेंद्र कुमार और गन्नौर थाना प्रभारी दिनेश कुमार टीम के साथ मौके पर पहुंचे और शवों को कब्जे में लेकर घटना स्थल का मुआयना किया। टीम ने एफएसएल की टीम को मौके पर बुलाकर सबूत जुटाए। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में भिजवा दिया। पुलिस ने ग्रामीण खुर्शीद के बयान पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

Related News

Leave a Comment