11 आरोपियों से हटाया गया हत्या का केस, दिल का दौरा पड़ने से हुई थी तबरेज अंसारी की मौत!

नई दिल्ली। झारखण्ड में चोरी के शक में भीड़ द्वारा पीट-पीटकर की गई तबरेज़ अंसारी की हत्या मामले में नया मोड़ आ गया है।

अंसारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि उसकी मौ’त दिल का दौरा पड़ने से हुई थी। इसे मुख्य कारण बताते हुए झारखंड पुलिस ने सभी 11 आरोपियों से हत्या का मा’मला हटा लिया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ये कोई सुनियोजित हत्या नहीं थी।

मीडिया रिपोट्स के अनुसार पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए पुलिस ने कहा है कि तबरेज अंसारी की दिल का दौरा (कार्डियक अरेस्ट) से मृ’त्यु हुई और यह कहा गया है कि यह पूर्व नियोजित ह’त्या का मामला नहीं है। गौरतलब है कि पुलिस ने पिछले महीने चार्जशीट में धा’रा 304 के तहत मा’मला दर्ज किया था। पुलिस ने इससे पहले अंसारी की पत्नी की शिकायत पर दर्ज एफआईआर में आरोपियों पर ह’त्या का आरोप लगाया था।

बता दें तबरेज़ अंसारी पर 18 जून को चोरी के संदेह में झारखंड के खरसावां जिले में भीड़ द्वारा हमला किया गया था। पुलिस के हवाले करने से पहले उसे घंटों तक बेर’हमी से पीटा गया। 22 जून को एक स्थानीय अस्पताल में उसने द’म तो’ड़ दिया था। गौरतलब है कि तबरेज़ के घर वालों ने इसे सांप्रदायिक मामला बताया है और कहा है कि उससे बार बार भीड़ ने राम के नारे लगवाए।

तबरेज़ के रिश्तेदार मक़सूद आलम ने कहा, उन्होंने उसकी पि’टाई की और बाद में उसे पुलिस को दे दिया। उन्हें चोरी का संदेह था लेकिन यह एक सांप्रदायिक हमला था। उसे इसलिए पी’टा गया क्योंकि उसका मुस्लिम नाम था। उन्होंने उससे बार-बार ‘जय श्री राम’ और ‘जय हनुमान’ के नारे लगवाए। दोषियों को गिरफ्तार किया जाए।


Source : upuklive

Related News

Leave a Comment