जॉब मांगने पहुंचे 12 दिव्यांग तो डीएम ने कलेक्ट्रेट परिसर में ही खुलवा दिया कैफ़े

नई दिल्ली। तमिलनाडु के थूथुकुडी जिला परिसर में खुले ‘कैफे एबल’ से 12 दिव्यांगों को रोजगार मिला है। दरअसल, पिछले दिनों 12 दिव्यांग कलेक्टर संदीप नंदूरी के पास नौकरी मांगने पहुंचे थे। दिव्यांगों से बातचीत के दौरान डीएम उनसे प्रभावित हुए और उन्हें कलेक्ट्रेट परिसर में ही कैफे खुलवाने का प्रस्ताव दिया और वे मान गए। सभी दिव्यांग आराम से काम कर सकें, इसलिए उन्हें 45 दिन की होटल मैनेजमेंट की ट्रेनिंग भी दिलवाई गई।


अब यहां 12 दिव्यांग काम कर रहे हैं। इनमें से 11 लोकोमोटर दिव्यांग हैं। यानी उनके पैर चलने-फिरने की हालत में नहीं हैं। जबकि एक सदस्य को सुनाई नहीं देता। अब डीएम संदीप नंदूरी अक्सर यहीं अपनी मीटिंग करते हैं। साथ ही खाना भी खाते हैं।

Related News

Leave a Comment