अशोक लाट के पास लहर, लहराया तिरंगा

राम मिश्रा, अमेठी। भारतीय तिरंगा को देश का आन, बान और शान माना जाता है आज जब हमारा देश 73वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है तो आसमान में सिर्फ और सिर्फ तिरंगा ही लहराता दिखाई पड़ रहा है।

इसी क्रम में जिले केे मुसाफिरखाना विकास खण्ड के बुद्ध बिहार अशोक नगर में 73वें स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण किया गया कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कैशियर राम लाल मौर्य ने राष्ट्रध्वज फहराने के फहराने के बाद तिरंगे के तीनों रंगों की व्याख्या करते हुए बताया कि तिरंगे की सफेद पट्टी पर बना अशोक चक्र ऐष धर्म: सनातन्: का संदेश देता है और ऐष धर्म: सनातन्:  देश वासियों को परस्पर सहानुभूति की शिक्षा देता है जिसका मुख्य संदेश यह है कि बैर को बैर से समाप्त नहीं किया जा सकता बल्कि बैर(वैमनस्य) को मात्र प्रेम(अवैमनस्य)से ही खत्म किया जा सकता है।

वही समारोह के अंत मे रमाशंकर मौर्य ने कहा कि हमने आहूतियां देकर कीमत चुकाई है और आज़ादी के लिए खुदीराम बोस, अशफाकुल्ला,भगत सिंह इत्यादि ने बेहद संघर्ष किया है इसे हमें व्यर्थ नहीं गंवाना है।

इस मौके पर श्रीपाल(एचआई) सूर्यभान मौर्य, रामेश्वर गौतम,दयाराम बौद्ध, साधुराम 'दरोगा', अशोक कुमार मौर्य,शिव बहादुर मौर्य, पारसनाथ,कामता प्रसाद कनौजिया, जगन्नाथ बौद्ध,सहित सैकड़ो लोग उपस्थित रहे।

Related News

Leave a Comment