मां ने पहले बेटे को, अब बेटी को एक लाख में बेचा

नई दिल्‍ली। एक मां ने एक महीने पहले एक साल के बेटे को बाल तस्‍कर गिरोह के हाथों बेच दिया था। अब उसने अपनी बेटी की आबरू को एक लाख रुपए में नीलाम कर दिया।

मामले का खुलासा होने के बाद पता चला कि मां ने दिल्‍ली-एनसीआर में सक्रिस बच्‍चा तस्‍कर गिरोह के हाथों बेच बेटी को बेच दिया। जानकारी के मुताबिक बच्‍चा तस्‍कर लड़की को सेक्‍ट रैकेट में झोंक पाता उस पहले लड़की किसी तरह मौके से भाग निकली और अपने पड़ोसियों के सहयोग से दिल्‍ली महिला आयोग को इसकी सूचना दी।

महिला आयोग ने इस मामले में तत्‍काल कार्रवाई कर लड़की को बचा लिया है। साथ ही महिला आयोग की ओर से इस मामले में एक मुकदमा भी दर्ज कराया गया है।

दरअसल, दिल्ली महिला आयोग ने एक 15 साल की लड़की को सेक्‍स रैकेट के धंधे में फंसने से पहले बचा लिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 8 सितंबर को युवती की मां अपनी बेटी को 8 सितंबर को यह बताकर अपने घर से निकली कि बदरपुर में उसकी बहन के यहां जा रहे हैं।

लेकिन वह अपनी बेटी को लेकर निजामुद्दीन के एक होटल में पहुंच गई। होटल में सौदा करने के बाद युवती की मां बेटी से कहा कि उसे कहीं जाना है। शाहिद उसे घर ले जाएगा।


मगर शाहिद उसे उसके घर ले जाने के बजाय, उसे बवाना गांव की ईश्वर कॉलोनी में अपने घर ले गया। शाहिद के घर की लड़कियों ने युवती से कहा कि वह शादी का जोड़ा पहने और तैयार हो जाए। पूछने पर बताया गया कि उसकी मां ने उसे 1 लाख रुपए में बेच दिया है। रकम वसूलने के लिए उसे ग्राहकों के साथ सोना पड़ेगा।

एक दिन के भीतर युवती  मौका मिलते ही वहां से फरार हो गई। उस समय युवती की जेब में केवल 10 रुपए थे। उसने एक ऑटो लिया और बवाना जेजे कॉलोनी स्थित अपने घर वापस पहुंच गई। उसने अपने पड़ोसियों से मदद मांगी जिन्होंने दिल्ली महिला आयोग की 181 महिला हेल्पलाइन पर फोन किया। दिल्ली महिला आयोग की टीम तुरंत मौके पर पहुंची और युवती  को स्थानीय पुलिस स्टेशन ले गई।

Related News

Leave a Comment