दहेज लोभियों से परेशान विवाहिता ने फांसी लगाकर जान दी

हरदोई।  बावन लोनार कोतवाली क्षेत्र के बावन में ससुरालीजनों द्वारा दहेज के लिए प्रताडि़त करने पर विवाहिता ने मायके में फांसी लगाकर दी जान, मृतका अंजू देवी के पिता हरीबाबू अग्निहोत्री ने लोनार थाने में तहरीर देते हुए कहा कि मेरे द्वारा पुत्री अंजू देवी की शादी आज से लगभग 05 वर्ष पूर्व रामशंकर उर्फ  छोटे भैया पुत्र राधेश्याम मिश्रा निवासी ग्राम उमरन थाना बेहटा गोकुल जनपद हरदोई के साथ की गई थी.

शादी के 02 वर्ष बाद मेरी पुत्री अंजू देवी को आये दिन कम दहेज के लिए प्रताडि़त करना, मारपीट करना आम बात हो गई थी, तथा कुछ दिनों बाद मेरी पुत्री अंजू देवी को मारपीट कर घर से भगा दिया.जिससे आहत व परेशान होकर पुत्री अंजू देवी अपने मायके बावन चली आई, तथा जब ससुरालीजन विदा कराने नहीं आये तो मृतका अंजू देवी के पिता हरीबाबू अग्निहोत्री ने न्यायालय में मुकदमा दायर किया, जो कि पिछली पेशी पर विपक्षीगण रामशंकर उर्फ  छोटे भईया पुत्र राधेश्याम, राधेश्याम मिश्रा पुत्र रामदत्त मिश्रा, पूता पत्नी राधेश्याम मिश्रा, नीलम पत्नी शिवशंकर उर्फ  बड़े भईया, शिवशंकर उर्फ बड़े भईया पुत्र राधेश्याम मिश्रा, निवासी ग्राम उमरन थाना बेहटा गोकुल ने मृतका अंजू देवी को डराया, धमकाया तथा आत्महत्या के लिए उकसाया, जिससे तंग आकर मृतका अंजू देवी ने बीती रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.वही मृतका अंजू देवी के भाई स्वदेश अग्निहोत्री ने बताया कि मेरी बहन मृतका अंजू देवी को ससुरालीजन आये दिन दहेज को लेकर परेशान करते थे.और कहते थे कि तुम्हारी कोई जरुरत नहीं है.दहेज नहीं लाओगी तो जिंदगी भर अपने घर मायके में रहो, जबकि मेरे घर वालों ने हैसियत के हिसाब से काफी दहेज दिया, फिर भी बहन मृतका अंजू देवी के ससुरालीजन दहेज के लिए उसे प्रताडि़त करते रहते थे 7 इन सब बातों से तंग आकर बहन मृतका अंजू देवी ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली, नायब तहसीलदार सदर व प्रभारी निरीक्षक लोनार की मौजूदगी में उतारा गया मृतका का शव, मृतका के परिजनों ने स्थानीय थाना लोनार में दी तहरीर, लोनार पुलिस मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुटी।

Related News

Leave a Comment