छेड़छाड़ का विरोध करने पर मनचलों ने छात्रा के सिर पर चढ़ाई बाइक

सुल्तानपुर।  छेड़खानी का विरोध करने पर 16 साल की एक लड़की के सिर पर मनचलों ने बाइक चढ़ा दी। सिर में गहरी चोट लगने और हड्डियों के टूट जाने की वजह से छात्रा की इलाज के दौरान मौत हो गई।

दुर्भाग्य की बात है कि इस मामले में भी पुलिस की घोर लापरवाही ही घटना का कारण बनी है। उत्तर प्रदेश पुलिस के अधिकारियों ने मामले में की कई दिनों तक एफआईआर तक दर्ज करने से इनकार कर दिया।

बताया जा रहा है कि 11वीं कक्षा की छात्रा स्कूली से लौट रही थी, तभी मनचलों ने उस पर आपत्तिजनक फब्ती कसी। लड़की के शोर मचाने पर मनचले उस वक्त तो भाग निकले, लेकिन करीब 500 मीटर आगे उन्होंने लड़की को रोक लिया।

उन्होंने वहां लड़की की पिटाई की और उसे सड़क पर गिरा दिया। इसके बाद उन्होंने लड़की के सिर से बाइक का पहिया निकाल दिया। पुलिसकर्मियों ने चार दिनों तक घटना की एफआईआर तक दर्ज करने से इनकार कर दिया और डॉक्टरों ने लड़की को अस्पताल में भर्ती करने से मना कर दिया क्योंकि इस घटना का कोई पुलिस रिकॉर्ड नहीं था।

घटना 8 अगस्त को हुई थी जब लड़की साइकिल से स्कूल से लौट रही थी। तीन आदमियों ने उसे घेरकर मारा। स्थानीय लोगों ने लड़की को अस्पताल में भर्ती कराया।

लड़की के दादा ने कहा कि जब वह शिकायत दर्ज करने के लिए लम्भुआ पुलिस थाने गए, तो पुलिस ने कथित तौर पर उनकी शिकायत दर्ज करने से इंकार कर दिया। हालांकि, चार दिनों के बाद 11 अगस्त को पुलिस ने शिकायत दर्ज की गई, जब सुल्तानपुर जिले के डॉक्टर ने कहा कि उसकी स्थित गंभीर है।


गंभीर चोटों की वजह से 7 दिनों तक जिंदगी और मौत से संघर्ष करने के बाद 14 अगस्त को लड़की की मौत हो गई। लड़की के दादा के अनुसार, लखनऊ के KGMU अस्पताल ने भी लड़की को भर्ती करने से इंकार कर दिया। लिहाजा, परिवार के सदस्य उसे एक निजी अस्पताल में ले गए, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। 


Source : upuklive

Related News

Leave a Comment