दबंगो की पिटाई से सिपाही अधमरा, दरोगा फरार

राकेश पाण्डेय
गाजीपुर। सादात थानाक्षेत्र के मौधियां बाजार में चालान काटने को लेकर कुछ मनबढ़ युवकों ने कांस्टेबल न सिर्फ सरेराह जमकर पिटाई कर दी बल्कि उसकी वर्दी फाड़ते हुए उसे सड़क पर कीचड़ में घसीटकर मारा। किसी तरह से ग्रामीणों ने बीच बचाव किया तो कांस्टेबल वहां से गया।

जिसके बाद से पुलिस उन युवकों की तलाश कर रही है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सादात थाने के एक एसआई मौधियां बाजार में कांस्टेबल प्रमोद सिंह के साथ वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इस बीच बिना हेलमेट के आए बाइक सवार को रोककर उन्होंने चालान काट दिया। ग्रामीणों का कहना है कि चालान काटने के बाद युवकों को चालान की रसीद नहीं दी गई थी।

जिससे युवकों ने पहले कांस्टेबल से बहस की और कुछ ही देर में हाथापाई पर उतर आए। लोगों के अनुसार मामला बढ़ता देख दरोगा वहां से चला गया। इस बीच युवकों ने सिपाही को पीटना शुरू कर दिया और उसे सड़क पर फैले कीचड़ में गिराकर लात-घूंसों से जमकर पीटा।इस बीच वहां मौजूद कुछ अन्य स्थानीय युवक वीडियो बनाते हुए मारो-मारो कहकर मनबढ़ युवकों का मन और बढ़ा रहे थे।

वहीं मनबढ़ों ने सिपाही को पीटते हुए उसका हेलमेट उतारकर दूर फेंक दिया और कहने लगे ये खुद हेलमेट नहीं लगाया है तो हमसे कैसे कह रहा है।

ये भी कहते सुने गए कि हमने इसे रूपया दिया है। इस बीच जब मनबढ़ों ने सिपाही को ज्यादा पीट दिया और उसकी वर्दी भी फाड़ दी तो वहां मौजूद कुछ महिलाएं व वृद्ध तुरंत वहां पहुंच गए और बीच बचाव मनबढ़ों को रोका। जिसके बाद किसी तरह से सिपाही वहां से रवाना हुआ।

थाने पहुंचने के बाद जब वहां पूरी घटना का पता चला तो पूरे जिले के पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। पूरा पुलिस अमला मनबढ़ों को ढूंढने में जुट गया। लेकिन वो फरार हो चुके था। स्थानीय लोगों के अनुसार उक्त बाइक सवार मनबढ़ धुआर्जुन गांव निवासी थे।

इस बाबत जब सादात थानाध्यक्ष से बात की गई तो उन्होंने बताया कि थाने के एक दरोगा कांस्टेबल प्रमोद सिंह के साथ क्षेत्र में गश्त पर थे और इस बीच वो दोनों बाइक सवार उन्हें दिखे। उन्होंने शराब पी हुई थी, जिसके बाद जब उन्होंने उन्हें रोका तो वो उनसे उलझने लगे और जिसके बाद ये घटना हो गई। कहा कि इस तरह की घटना को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

हम उनकी पहचान की पूरी कोशिश कर रहे हैं। उन्हें कहीं से भी ढूंढ निकाला जाएगा। जल्द ही वो हिरासत में होंगे। कहा कि अगर इस तरह की घटनाएं होने लगें तो सिपाही अपनी ड्यूटी करने से भी कतराने लगेगा।

Leave a Comment