युवक की हादसे में मौत, जाम लगाने पर लाठीचार्ज

काशीपुर (इफ्तखार अर्शी)। फैक्ट्री से ड्यूटी कर वापस घर लौट रहे बाइक सवार युवक को अज्ञात वाहन ने कुचल दिया। परिजनों समेत सहकर्मियों ने मौके पर जाम लगाकर आक्रोश जताया तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इतना ही नहीं पुलिस ने मृतक के परिवार के तीन सदस्यों को भी हिरासत में ले लिया है।
कोतवाली के ग्राम शरीफ नगर के वार्ड मेंबर सुशील ठाकुर का बेटा राहुल उत्तराखंड के महुआ खेड़ा गंज स्थित फैक्ट्री में नौकरी करता था। सोमवार की रात 8:00 बजे छुट्टी होने पर बाइक से घर लौट रहा था। काशीपुर मुरादाबाद हाईवे पर ढेला नदी के पुल के निकट बाइक सवार राहुल को पीछे से ट्रक ने रौंद दिया। सिर पर पहना हेलमेट टूटने के साथ गहरे घाव के चलते अत्यधिक रक्तस्राव की वजह से राहुल ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। घटना के बाद काशीपुर पुलिस शव को उठा कर सरकारी अस्पताल ले गई। इस बीच सूचना मिलते ही परिवार के सदस्यों के साथ फैक्ट्री से सहकर्मी भी मौके पर पहुंच गए। गुस्साए परिजनों के साथ सहकर्मियों ने घटनास्थल पर जाम लगाकर वाहन चालक को पकड़ने की मांग की। रोड जाम खुलवाने के लिए काशीपुर पुलिस ने लाठी चार्ज कर भीड़ को दौड़ा दिया। पुलिस लाठीचार्ज में कई लोगों को चोटे आई हैं।
पुलिस ने मृतक के ताऊ सुभाष सिंह, चाचा डॉक्टर स्वतंत्र सिंह पवार और परिवार के सदस्य विक्की को हिरासत में ले लिया। सूचना मिलने पर रात करीब बारह बजे ग्राम प्रधान एम इलयास, ठाकुर कमल सिंह एडवोकेट एवं मृतक के चाचा डॉक्टर भानु प्रताप सिंह समेत दर्जनों ग्रामवासी पहले सरकारी अस्पताल पहुंचे बाद में काशीपुर कोतवाली पहुंचकर हिरासत में लिए लोगों को रिहा करने की मांग की। कोतवाल ने नेशनल हाइवे जाम को गंभीर मामला बताकर दिन निकलने पर अफसरों के संज्ञान में डालकर छोड़ने का आश्वासन दिया। दूसरी तरफ पुलिस ने सुशील ठाकुर की तहरीर पर अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। गौरतलब है कि मृतक के चाचा डॉक्टर स्वतंत्र सिंह पवार भाजपा समेत अन्य हिन्दू संगठनों से भी जुड़े हैं। भतीजे की मौत के बाद उल्टे उनको हिरासत में लेने पर कार्यकर्ताओं में आक्रोश है।

Related News

Leave a Comment