घर से मस्जिद है बहुत दूर चलो यूं कर लें, किसी रोते हुए बच्चे को हंसाया जाए...

मुंबई। "घर से मस्जिद है बहुत दूर चलो यूँ कर लें", "किसी रोते हुए बच्चे को हँसाया जाए" कल शाम को अंधेरी स्थित मेयर हाल में हुए एक चैरिटेबल कार्यक्रम में निदा फ़ाज़ली की ये पंक्तियाँ बहुत ही चरितार्थ रहीं।

इवेंट कंपनी शो गुरु की ओर से आयोजित म्यूज़िकल एवं कॉमेडी नाइट ‘पंख अरमानों के ‘ डिज़ाइअर सोसायटी अनाथाश्रम (HIV पॉजिटिव सेंटर) की 30 नन्ही बच्चियों ने अपनी प्रतिभा का जलवा बिखेरा ...ये बच्चियाँ अनाथ एवं एच॰आई॰वी० पॉज़िटिव हैं।

इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में अभिजीत राणे ,  दीपिका टोपीवाला,  दिव्या रविन्द्र जैन , नानावटी हॉस्पिटल के डॉक्टर अब्दुल समद अंसारी ,सुनील पाल , अशोक मिश्र , भजन सम्राट विष्णु मिश्रा , पामिला जैन ,रेखा राव , रश्मि मिश्रा एवं ज्योति त्रिपाठी की उपस्थिति रही एवं शो गुरु इवेंट्स द्वारा पधारे हुए विशिष्ट अतिथियों में कला विदुषी सम्मान श्रीमती रवींद्र जैन जी को दिया गया .. रामायण में सीता की भूमिका अदा करने वाली अभिनेत्री दीपिका टोपीवाला को नारी शक्ति गौरव सम्मान , डॉक्टर अब्दुल समद अंसारी को महर्षि सुश्रुत सम्मान , अभिजीत राणे को युवा शक्ति गौरव सम्मान एवं श्रीमती निर्मला जैन जी को हिंदी साहित्य रत्न सम्मान दिया गया।

कार्यक्रम में जहाँ सुनील पाल ने लोगों को हँसा - हँसा कर लोट - पोट कर दिया वहीं दूसरी तरफ़ बच्चों की प्रस्तुति ने सभी की आँखे नम कर दी।

इस कार्यक्रम के माध्यम से शो गुरु इवेंट्स के सीईओ शिव मिश्रा ने सभी को एक संदेश दिया कि हमें अपना जन्मदिन इस तरह से मनाना चाहिए, जहाँ आज कल लोग पार्टियों में लाखों करोड़ों रुपए ख़र्च करते हैं वहीं इन्होंने सिर्फ़ इन मासूम बच्चों के चेहरे पर मुस्कुराहट देखने के  लिए इस कार्यक्रम को आयोजित किया, अंत में शिव मिश्रा ने कार्यक्रम संयोजक प्रतीक भट्टाचार्या सहित अपनी पूरी टीम की तरफ से सभी अतिथियों का धन्यवाद किया।

Related News

Leave a Comment