शादी में उम्र बताई कम, सास ने बहू पर दर्ज कराया केस

ठाकुरद्वारा/मुरादाबाद। अक्सर परिवार में विवाद के चलते पति और सास-ससुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने की घटनाएं तो खूब सुनी होंगी लेकिन यहां सास ने शादी के वक़्त कम उम्र बताकर धोखा देने का आरोप लगाते हुए बहू समेत उसके परिजनों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया है। 

उत्तराखंड के अफजलगढ़ रोड थाना जसपुर निवासी गीता चैहान पत्नी गजेंद्र सिंह ने न्यायालय में प्रार्थना पत्र दिया था। इसमें कहा कि उसके पुत्र सुमित का विवाह 8 मई 2017 को लवली चैहान पुत्री मिथलेश कुमारी निवासी ग्राम दहलावाला थाना रहड़ जनपद बिजनौर हाल निवास दूल्हापुर अमानताबाद थाना ठाकुरद्वारा के साथ हुआ था। विवाह के वक्त लवली चौहान, उसके मामा जयपाल सिंह पुत्र गजराम सिंह निवासी दूल्हापुर, भाई प्रशांत कुमार, मां विजयलक्ष्मी, ममेरे भाई रजनीश कुमार निवासी काशीपुर ने जन्मतिथि 10 फरवरी 1990 बताई थी। जबकि लवली चौहान के शैक्षिक प्रमाण पत्रों में उसकी जन्मतिथि 24 नवंबर 1982 दर्ज है।

उसने कक्षा 5 तक की पढ़ाई प्राइमरी कन्या पाठशाला दुल्लापुर से और इंटरमीडिएट नवजागरण इंटर कॉलेज दूल्हापुर से किया स्नातक की डिग्री गांधी स्मारक डिग्री कॉलेज सुरजन नगर से प्राप्त की। उक्त आरोपियों ने कृष्णा पब्लिक उत्तर माध्यमिक विद्यालय जलालपुर सर्वोदय इंटर कॉलेज बिलारी की फर्जी मार्कशीट बनाकर 31 जुलाई 2012 को हाई स्कूल में प्रवेश सिला दिया जिसमें लवली चौहान की जन्म तिथि 10 फरवरी 1997 अंकित की गई।

सर्वोदय इंटर कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए नवजागरण का स्थानांतरण प्रमाण पत्र लगाया गया। उसके आधार कार्ड में जन्मतिथि 24 नवंबर 1982 दर्ज है। आधार में पता ग्राम बेला वाला जनपद बिजनौर दर्द जबकि दूसरा आधार कार्ड दुलापुर अमानता बाद तहसील ठाकुरद्वारा के पते पर बनाया गया है।

गीता चौहान ने आरोप लगाया कि लवली चौहान ने सेक्स प्रमाण पत्रों में जन्मतिथि का फर्जीवाड़ा विवाह में कम उम्र साबित कर धोखाधड़ी करने के साथ ही नौकरी हासिल करने के लिए भी किया है। न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने लवली चौहान, उसकी मां विजयलक्ष्मी, भाई प्रशांत कुमार, मामा जयपाल सिंह और ममेरे भाई रजनीश कुमार के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया गया।
-सांकेतिक तस्वीर 

Related News

Leave a Comment