प्रभावशाली शिक्षण के लिए पाठ योजना का ज्ञान जरूरी

जसपुर। प्रभावशाली शिक्षण के लिए शिक्षक को पाठ योजना का ज्ञान होना आवश्यक है। पाठ योजना के लिए जरूरी है कि उसके चरण को नियमबद्घ कंठस्थ करना। अगर पाठ योजना क्रमानुसार नहीं बनी है,तो शिक्षण प्रभावशाली नहीं हो सकता है। गढ़वाल विश्वविद्यालय श्रीनगर की सहायक प्राध्यापिका डा. भीमा मनराल ने आरएलएस मैमोरियल डिग्री कॉलेज के छात्र छात्राओं को शैक्षणिक टिप्स दिए। कहा कि प्रभावशाली शिक्षण के लिए एक अध्यापक को बालकों के मनोविज्ञान का ध्यान रखना भी आवश्यक है।
यहॉ कालेज सभागार में आयोजित कार्यक्रम डा. मनराल ने प्रभावशाली शिक्षण के गुणों के संदर्भ में व्याख्यान दिया। उन्होंने बताया कि एक शिक्षक अगर सही से प्रशिक्षित नहीं होगा तो वह अपने विद्यार्थियों को भी प्रभावशाली शिक्षण नहीं दे सकता है। उन्होनें बताया कि शिक्षण के दौरान विद्यार्थियों को सकारात्मक और नकारात्मक चीजों पर ध्यान देना आवश्यक होता है। कहा कि एक अच्छे शिक्षक को प्रभावशाली व्यक्तित्व का धनी भी होना आवश्यक है।
कहा कि शिक्षक का व्याख्यान स्पष्ट और छोटा होना के साथ साथ विद्यार्थियों के साथ आदर्श वार्तालाप होना लाजमी है। यहॉ संस्था सचिव विनय चैहान, प्राचार्य भुवनेशवरी, डा. रवि कुमार,  मो. सलीम, आसमां परवीन, विपिन कुमार, विवेक वत्सल, दीपक चैहान, मनोज कुमार, अभिलाषा, ज्योति, स्वाति, पूजा, विजय लक्ष्मी, शिवानी, विवेक कुमार, विमल, सुभाष, खूब सिंह, दानिश, राजवीर, राशिद आदि मौजूद रहे। 

Leave a Comment