25,500 लीटर तेल से रोशन होगी रामनगरी, 14 स्‍थलों पर जगमगाएंगे मिट्टी के दीये

राकेश पाण्डेय
लखनऊ/अयोध्या। रामनगरी का दीपोत्सव इस बार नए कलेवर में होगा। इसके लिए तैयारी युद्ध स्तर पर शुरू हो चुकी है। जहां एक ओर राम की पैड़ी को आयोजन के लिए तैयार किया जा रहा है, तो दूसरी ओर दीपोत्सव की सामग्री की खरीदारी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इस बार साढ़े 25 हजार लीटर सरसो के तेल से जलाए गए दीयों की रोशनी से रामनगरी नहा उठेगी। राम की पैड़ी के साथ अन्य 14 प्रमुख स्थलों पर मिट्टी के दीये जगमगाएंगे। 45 मिलीलीटर तेल की क्षमता वाला एक-एक दीया तीन घंटे जलेगा।
आयोजन में लगने वाली सामग्री की खरीद के लिए ई- टेंडर हो चुका है। 14 अक्टूबर को ई-टेंडर खुलने के बाद आपूर्ति शुरू हो सकेगी। कुल 17 सौ टिन सरसो के तेल के अलावा पांच लाख मिट्टी के दीये व छह लाख रुई की बाती को क्रय करने का खाका तैयार हुआ है। गत वर्ष की तुलना में इस बार चार सौ से अधिक टिन सरसों के तेल की खरीदारी की जाएगी। दीया जलाने के लिए माचिस व मोमबत्ती भी आनी है। इस कार्यक्रम में अवध विवि की ओर से अहम भूमिका वाले आशीष मिश्र बताते हैं कि दीपोत्सव कार्यक्रम में प्रयुक्त होने वाली सामग्री के लिए ई-टेंडर हो चुका है। राम की पैड़ी पर तकरीबन पांच लाख व अन्य 13 स्थानों पर एक लाख दीये जलाएंगे।

Related News

Leave a Comment