बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर को समझना ही सामाजिक क्रांति की शुरुआत : लक्ष्य

फरीदाबाद। लक्ष्य कमांडर सरोज देवी के नेतृत्व में " भीम चर्चा"  अभियान के तहत एक भीम चर्चा का आयोजन फरीदाबाद के राजीव नगर में किया गया  |

बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर को समझना ही, सामाजिक क्रांति की शुरुवात है अर्थात जो लोग बाबा साहब को अच्छे से समझ जायेंगे वे लोग कभी भी शोषण को सहन नहीं करेंगे और बल्कि उस शोषण को जड़ से समाप्त करने के लिए दिन रात संघर्ष करेंगे, यह  बात लक्ष्य कमांडरों ने अपने सम्बोधन में कही | 

उन्होंने कहा कि मात्र बाबा साहब की चर्चा कर लेने से काम नहीं चलेगा उनके बताये मार्ग पर चलना होगा अर्थात अन्य लोगो को भी उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करना होगा और उन अधिकारों को प्राप्त करने के लिए संघर्ष करना होगा | लक्ष्य  कमांडरो ने कहा कि शोषण को किसी भी हालत में सहन नहीं करना चाहिए बल्कि मिलकर उसका मुँह तोड़ जवाब देना चाहिए, बाबा साहब अम्बेडकर एक समतावादी वाली विचारधारा है और इस विचारधारा को बहुजन समाज के घर घर पहुँचाना होगा ताकि बहुजन समाज को भी देश में समानता व् विकास की किरण मिल सके |

इस भीम चर्चा में लक्ष्य कमांडर धर्मेंद्र कुमार,  देव चंद, बच्चू, राकेश रवि, सुरेश कुमार, राम स्वरूप जी, अंजलि कुमारी, ख़ुशी, दीक्षा, लालसा देवी,  रिंकू, कमलेश भारती, सरोज, बिजेन्द्र कुमार, ब्रिजेश कुमार, विवेक कुमार, रोहित कुमार व् मोनू ने हिस्सा लिया |


Source : upuklive

Related News

Leave a Comment