लापता युवती का शव मिलने पर परिजनों ने लगाया युवती की हत्या का अंदेशा

हरिद्वार। सिडकुल से लापता युवती का शव आसफनगर झाल मंगलौर में मिलने के बाद परिजनों ने युवती की हत्या का अंदेशा जताते हुए रोशनाबाद स्थित एसएसपी कार्यालय पर हंगामा किया। शव को कार्यालय के बाहर रखकर प्रदर्शन किया। एसएसपी जन्मेजय प्रभाकर खूंडरी के आश्वासन के बाद हंगामा शांत हुआ और परिजनों ने युवती का अंतिम संस्कार चंडीघाट स्थित शमशान घाट पर किया।

14 जुलाई को सिडकुल स्थित फैक्ट्री में कार्यरत मनीषा रावत, निवासी ग्राम धारी पोस्ट जमेली, जनपद पौड़ी गढ़वाल, हाल निवासी रावली महदूद सिडकुल संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई थी। मनीषा के भाई की ओर से सिडकुल थाने में गुमशुदगी दर्ज करायी गयी थी। पुलिस ने बीते गुरुवार को मनीषा के शव को मंगलौर आसफनगर झाल में बरामद किया था।

पुलिस मामले को आत्महत्या मान रही थी, लेकिन परिजनों ने मनीषा की हत्या होने की बात कही है। शुक्रवार को युवती का शव रुड़की अस्पताल से लाने के बाद परिजनों ने चिह्नित राज्य आंदोलनकारी समिति के केन्द्रीय अध्यक्ष जेपी पाण्डे के नेतृत्व में पहले तो सिडकुल एसओ प्रशांत बहुगुणा से मुलाकात की। बाद में परिजनों ने रोशनाबाद स्थित एसएसपी कार्यालय पहुंचकर लड़की के शव को रखकर प्रदर्शन किया।

पीडित परिजनों ने एसएसपी जन्मेजय प्रभाकर खंडूरी से मुलाकात करते हुए आत्महत्या को नकारते हुए मनीषा की हत्या किये जाने की बात कही है। एसएसपी ने पीडि़त परिवार को भरोसा दिलाया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही सच्चाई सामने आएगी। रिपोर्ट में हत्या की ओर सकेत मिलते हैं तो निश्चित ही मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी। प्रदर्शन करने वालों में रिश्तेदार जयपाल सिंह रावत, दीपक रावत, यशपाल रावत, अंकित, अमि, राजीव, रोहित, जगमोहन सिंह नेगी आदि मौजूद रहे।

Related News

Leave a Comment