बच्चा चोर समझकर कांग्रेस नेताओं को गांववालों ने बेरहमी से पीटा

बैतूल। गुरुवार देर रात बैतूल जिले के केसिया गांव में अपने घर लौट रहे दो कांग्रेसी नेता और एक सामाजिक कार्यकर्ता को गांववालों ने बच्चा चोर समझकर बेरहमी से पीट दिया। ये पूरा वाकया उस वक्त हुआ जब वो एक समारोह में शामिल होकर अपनी कार से वापस लौट रहे थे। जैसे-जैसे वो ग्रामीणों के चंगुल से छूटे और पुलिस को इसकी सूचना दी।

जानकारी मिलते ही पुलिस आनन-फानन में मौके पर पहुंचीं और कांग्रेस नेताओं को वहां से सुरक्षित बाहर निकाला। जिन लोगों के साथ मारपीट हुई है, उनकी पहचान कांग्रेस जिला महामंत्री धर्मेंद्र शुक्ला, जनपद सदस्य धरमू सिंग लांजीवार और आदिवासी कोरकु समाज के तहसील अध्यक्ष ललित बारस्कर के रुप में हुई है।

गुरुवार रात कांग्रेस नेता केसिया गांव से अपनी कार जिसका नंबर एमपी 13 डीए 2013 से घर लौट रहे थे। नई दुनिया की रिपोर्ट के अनुसार इस दौरान ग्राम नवल सिंग ढाना रोड पर झाड़ियां पड़ी हुईं थी। बीच रास्ते पर झाड़ियां पड़ी देखकर तीनों ही नेता घबरा गए और अपनी कार वापस गांव की तरफ ले जाने लगे। इसी बीच आस-पास छुपे ग्रामीणों ने उन पर हमला कर दिया। जब तक वो कुछ समझ पाते, तब तक लाठी, पत्थरों से गांववालों ने उनकी कार फोड़ डाली।

इसके बाद गांववालों ने कार में बैठे तीनों लोगों को बाहर निकाला और उनकी पिटाई शुरू कर दी। किसी तरह ये लोग गांववालों के चंगुल से बचे और शाहपुर ब्लॉक के कांग्रेस अध्यक्ष नरेंद्र मिश्रा को इस घटनाक्रम की सूचना दी। इसके बाद शाहपुर थाने से थाना प्रभारी दीपक पाराशर दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे एवं आरोपियों की तलाश की। लेकिन तब तक आरोपी फरार हो चुके थे ।

शाहपुर पुलिस ने पीड़ित धर्मेंद्र शुक्ला की शिकायत पर सीतलझिरी ग्राम के 5 ग्रामीणों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की है। शाहपुर थाना प्रभारी दीपक पाराशर ने बताया कि मारपीट करने जाने की सूचना मिलते ही उन्होंने मौके पर जाकर पीड़ितों को सुरक्षित शाहपुर लेकर आए एवं आरोपियों के विरुद्ध मामला दर्ज कर जांच की जा रही है ।

Related News

Leave a Comment