बहुजन समाज को सामाजिक जागरूकता के मायनों को अच्छे से समझना होगा : लक्ष्य

बाराबंकी। "लक्ष्य गांव  की ओर"  अभियान के तहत लक्ष्य की महिला टीम ने  लक्ष्य कमांडर विजय लक्ष्मी गौतम के नेतृत्व में  एक दिवसीय कैडर कैम्प  का आयोजन उत्तर प्रदेश के जिला बाराबंकी के मसौली गांव में किया जिसमें गांव की महिलाओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया|

सामाजिक व आर्थिक बदलाव के लिए, बहुजन समाज को सामाजिक जागरूकता के मायनों को अच्छे से समझना होगा|  सामाजिक जागरूकता ही बहुजन समाज को देश का हुक्मरान बना सकती है आज जो गुलामी व दरिद्रता से ग्रस्त हैं वो कल को समृद्धि वाला जीवन जी सकते हैं | यह बात लक्ष्य कमांडर विजय लक्ष्मी गौतम, एडवोकेट लक्ष्मी गौतम, नीलम चौधरी व अनीता प्रसाद ने कही |

उन्होंने कहा कि अगर अच्छे से सामाजिक जागरूकता को समझना है तो बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर को समझना होगा और अगर उस मार्ग पर चलना चाहते हो तो मान्यवर कांशीराम के सामाजिक आंदोलन को समझना होगा|  लक्ष्य  कमांडरों ने जोर देते हुए कहा कि यही सामाजिक जागरूकता है जो समाज को अँधेरे से उजाले की ओर ले जाती है और समाज को वो मजबूती देती है जहाँ समाज अपने हाथो में देश की सत्ता ले सकता है और जहाँ बड़ी से बड़ी ताकत नत्तमस्तक होती है यही बात समय समय पर हमारे महापुरुषों ने भी कही है |

लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि यह सामाजिक जागरूकता एक छोटा सा शब्द है लेकिन बहुत ही शक्तिशाली है अगर इसको समाज समझ ले तो उसकी काया पलट होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा |

इस कार्यक्रम में ऊषा देवी, फूलमती देवी, रेनू देवी, मंजू देवी, पूर्णिमा, प्रदीप कुमार, नीता देवी, विमला देवी, निर्मला, अनीता, राजकुमारी, रेनू, राकेश कुमार, राजाराम, रामू सिंह, विजय कुमार, अंकित कुमार, आराधना चौधरी, किरन व्  एकता चौधरी ने हिस्सा लिया और गांव वासियो ने लक्ष्य की महिला कमांडरों की जोरदार प्रशंशा करते हुए उनके साथ जुड़कर कार्य करने की इच्छा भी जताई |

Related News

Leave a Comment