बरसों पुराने इस किले में सोने की ईंट की तलाश में आते हैं लोग!

भारत भी एक खूबसूरत देश है जो अपनी बनावट और सुंदरता की वजह से अधिक प्रसिद्ध है. यहां कई चीज़ें और जगह ऐसी हैं जिसके कारण भारत और भी प्रसिद्ध है. आपके कई किले और गढ़ देखे होंगे भारत में. ऐसे ही एक और किले के बारे में हम बताने जा रहे हैं जो बेहद ही अनोखा है.
आपको बता दें, जबलपुर के इस किले को 11 वीं शताब्दी में बनवाया गया था. जिसको मदन महल किला के नाम से जाना जाता है. उस समय होने वाले संघर्षो की वजह से इस किले को वॉच टावर के रूप में इस्तेमाल किया जाता था. लेकिन अब ये बात काफी पुरानी हो गई है लेकिन ये अब भी चर्चा में है.
आपको बता दें, ये किला बहुत पुराना हो चुका है लेकिन कई लोगों को यह भ्रम है कि इस किले में सोने की ईंटे दबी हुई है. उन ईंटों को पाने के लिए कई लोगों ने प्रयास भी किए. लेकिन उनको सफलता नहीं मिली. समय समय पर लोग यहां आकर प्रयास करते ही रहते है. उन सबका मानना है कि एक साया उन ईंटों की रक्षा करता है. साय के होने का कोई प्रमाण तो नहीं है लेकिन कुछ लोगों ने बताया कि बरसों पहले एक साये को घूमते हुए देखा गया था जिसके बाद से ये किला और भी सुर्खी बटोरने लगा.
लोगों का मानना है कि रात होते ही वहां पर काफी डरावनी आवाजें आने लगती है. इस कारण से रात होते ही लोग वहां पर नहीं जाते हैं. लेकिन लोगों के लालच और अपराधियों की गतिविधि की वजह से यह गलत लोगों की शरण स्थली बन गया है. यानि यहां जो भी आता है अब अपने लालच के चलते आता है और अपराध हो जाता है.

Related News

Leave a Comment