दहेज के लिए दानव बने ससुराली, नवजात शिशु को गोद लेकर भावुक हुए एसएचओ

राम मिश्रा, अमेठी। अमेठी के मुसाफिरखाना कोतवाली क्षेत्र में एक विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। सूचना पर पहुंचे मायके वालों ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी है ।
क्या है मामला-
अमेठी में मुसाफिरखाना कोतवाली क्षेत्र के भागूपुर गुन्नौर गांव में एक विवाहिता की संदिग्ध अवस्था में मौत का मामला सामने आया है।विवाहिता की माँ ममता ने बताया कि उसको फ़ोन कर जानकारी दी गई कि उसकी बेटी की तबीयत खराब है लेकिन ममता जब बेटी के ससुराल पहुँची तो उसकी बेटी की लाश को बर्फ में रखा गया था और उसे छूने और देखने तक नही दिया जा रहा था लड़की के माँ ने विवाहिता की मौत के पीछे उसके ससुराल वालों को जिम्मेदार ठहराया है मायकेवालों ने आरोप लगाया है कि संजना की गला दबाकर हत्या की गई है जब हम लोग बेटी को देखने पहुंचे तो उसके गले में रस्सी के गरहे निशान दिखे जिससे साफ पता चल रहा है कि उसे बड़ी बेरहमी से मारा गया है।
इन पर पर लगाया आरोप-
मृतक विवाहिता की माँ ममता निवासी कांहापुर मछली शहर जौनपुर ने बताया कि उसने अपनी बेटी संजना की शादी करीब डेढ़ साल पहले मुसाफिरखाना थाना क्षेत्र के भागूपुर गुन्नौर गांव में की थी ममता मिश्रा ने आरोप लगाया कि उसकी बेटी के ससुर संजय मिश्रा के कहने पर पचास हजार रुपए नकद और एक पल्सर गाड़ी के लिए चाचा राजेश,बुआ दर्शना देवी,बहन साबित्री और शीला व चाची शारीरिक व मानसिक शोषण कर रहे थे और दहेज की मांग पूरी न होने पर 28 अगस्त को उसकी बेटी को बेदर्दी से मार दिया गया है। 
तीन माह के नवजात बच्चे को नहीं मिलेगा मां का प्यार-
बता दे कि मृतका संजना का तीन माह की एक नवजात बच्चा भी है नवजात शिशु अपनी नानी के साथ कोतवाली परिसर में आया था जिसे देख एसएचओ मुसाफिरखाना अवधेश यादव गोद मे लेकर भावुक हो गये वही सँजना की मौत के बाद अब नवजात की देखभाल कौन करेगा यह अपने आप में लोगों को कचोटता रहा।
इनका कहना है-
वहीं इस पूरे मामले पर एसएचओ मुसाफिरखाना अवधेश यादव ने बताया कि संजना मिश्रा नाम की एक विवाहिता की मौत का मामला सामने आया है विवाहिता के मां ने तहरीर देते हुए आरोप लगाया है कि उसे ससुराल वालों ने मारा है। पुलिस पूरे मामले की जांच तफ्तीश में जुटी है कारवाई की जा रही है ।

Related News

Leave a Comment