पेड़ कटने के 2 दिन बाद तक टूटे अंडों के पास बैठे रहे पक्षी

नई दिल्ली। केरल में पलक्कड़ रेलवे स्टेशन परिसर में स्थित एक गुलमोहर का पेड़ काटने के आरोप में रेलवे के अधिकारियों और ठेकेदार के ऊपर मामला दर्ज कराया है. दरअसल इस पेड़ पर 100 से ज्यादा प्रवासी पक्षियों के घोंसले थे, जो पेड़ कटने से उजड़ गए।

बता दें कि एक अक्टूबर को पलक्कड़ रेलवे स्टेशन परिसर पर लगे गुलमोहर के पेड़ को काट दिया गया था. गुलमोहर का ये पेड़ काफी पुराना बताया जा रहा है. पेड़ काटे जाने से इसमें बने सौ से ज्यादा घोंसले टूट गए और उनमें मैजूद अंडे टूटकर जमीन पर बिखर गए।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक पेड़ कटने के बाद प्रवासी पक्षी दो दिन तक वहीं बैठे रहे और अपने अंडों को तलाशते रहे। रेलवे परिसर में काटे गए पेड़ की खबर जब पर्यावरण कार्यकर्ता बोबन मट्टूमंथा को मिली तो उन्होंने इसकी सूचना वन विभाग को दे दी।

सूचना के बाद मौके पर पहुंचे वालयाल रेंज के वन अधिकारियों ने रेलवे स्टेशन के अधिकारियों और पेड़ काटने वाले ठेकेदार पर मामला दर्ज कराया है. बोबन मट्टूमंथा ने बताया पेड़ काटने से पहले वन विभाग से अनुमति लेनी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। 

Related News

Leave a Comment