तीन लाख कर्मचारियों की छटनी करेगा रेलवे

नई दिल्ली। कामचोरी करने वाले कर्मचारियों की छंटनी के लिए भारतीय रेलवे ने जोनल ऑफिसों से ऐसे कर्मचारियों की लिस्ट तैयार करने को कहा है। रेलवे मिनिस्ट्री के एक सूत्र के मुताबिक एक निर्देश जारीकिया गया जिसमें ऐसे लोगों की लिस्ट बनाने के लिए कहा गया है जो कि 55 साल की उम्र पार कर चुके हैं या 2020 की पहली तिमाही तक रेलवे में उनकी नौकरी के 30 साल पूरे हो गए हैं।
रेलवे बोर्ड ने जोनल ऑफिसों को जो पत्र भेजा है, उसके अनुसार, ज़ोनल रेलवेज से गुजारिश की गई है कि वे अपने स्टाफ का एक सर्विस रिकॉर्ड तैयार करें, जिसके साथ उनका प्रोफार्मा संलग्न किया हुआ हो। इस रिकॉर्ड में उन कर्मचारियों को शामिल किया जाए जो अपनी 55 साल की उम्र पार कर चुके हों या 2020 की पहली तिमाही तक रेलवे में 30 साल नौकरी कर पेंशन पाने के योग्य हो चुके हों। पत्र में कहा गया है कि इन दोनों ही क्राइटेरिया में आने वाले लोगों की एक लिस्ट तैयार की जाए। 2020 की पहली तिमाही का मतलब पत्र में साफ करते हुए इसे जनवरी से मार्च, 2020 बताया गया है।
रेलवे का यह पत्र 27 जुलाई को जारी किया गया है क्योंकि इसमें यही तारीख पड़ी हुई है। साथ ही इसमें रेलवे बोर्ड ने जोनल ऑफिसों के लिए लिस्ट भेजने की आखिरी तारीख 9 अगस्त तय की है।
रेलवे से जुड़े एक सूत्र ने बताया है यह एक समय-समय पर किया जाने वाला रिव्यू है जिसके जरिए उन कर्मचारियों की पहचान की जाती है जो ठीक से काम नहीं कर रहे होते और उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हें समय से पहले रिटायर किया जाता है। यह सरकार इस तरह की कार्रवाईयों को लेकर काफी सीरियस है।
जोनल रेलवे अफसरों से कर्मचारियों के मानसिक और शारीरिक फिटनेस, उनकी अटेंडेंस और अनुशासन के बारे में जानकारियां मांगीं गई हैं। इसके अलावा एक और सेक्शन है, जिसमें पूछा गया है कि कर्मचारी का संसाधनों के खर्च को लेकर क्या रवैया है। वह पत्र-व्यवहार/ मेल आदि कर पाता है या नहीं और उसके व्यवहार का भी मूल्यांकन किया जाना है।

Related News

Leave a Comment