सुरक्षा खाई में भरे पानी में गिरकर दम घुटने से टस्कर की मौत

रुद्रपुर। खटीमा के किलपुरा रेंज में जंगल और आबादी के बीच बनी सुरक्षा खाई में भरे पानी में गिरकर दम घुटने से टस्कर की मौत हो गयी। वन विभाग की टीम ने पशु चिकित्सकों की टीम के साथ हाथी का पोस्टमार्टम किया।सोमवार को वन विभाग किलपुरा रेंज की टीम गस्त पर थी। तभी उन्हें टस्कर पश्चिमी किलपुरा कंपार्ट संख्या तीन में सुरक्षा खाई में औंधे मुंह पानी में गिरा दिखाई दिया। टस्कर की मौत हो चुकी थी।

वन कर्मियों ने उच्चाधिकारियों को घटना की सूचना दी। वन विभाग के आलाधिकारी पशु चिकित्सकों की टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। एसडीओ वन बाबू लाल ने बताया कि हाथी अपने झुंड से अलग आबादी क्षेत्र में धान की फसल खाने आया था। दूसरे किनारे से भी हाथियों का झुंड सुरक्षा खाई के बगल से लगे खेत में घुसे थे। अकेले धान के खेत में घुसने के प्रयास में नर हाथी सुरक्षा खाई में औंधे मुंह गिर गया।

सुरक्षा खाई में भरे पानी में दम घुटने से उसकी मौत हो गई। रेंजर केसी कफल्टिया ने बताया कि हाथी की उम्र सात से आठ वर्ष है। पीएम रिपोर्ट के अनुसार दुर्घटना सुबह साढ़े तीन बजे हुई है। उन्होंने बताया की हाथी के सभी अंग सुरक्षित है। हाथी का पोस्टमार्टम दो पशु चिकित्सक डॉक्टर कोमल सिंह और डॉक्टर अमित ने किया। पोस्टमार्टम के बाद हाथी को दफना दिया गया है।

Related News

Leave a Comment