31 साल पुराने इस मॉडल का इस्तेमाल जल्द बंद कर देगा रेलवे

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने के इरादे से रेलवे का 100 प्रतिशत विद्युतीकरण का निर्णय किया है. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बुधवार को यह जानकारी दी. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने यह भी कहा कि उन्होंने अगले 10 साल में रेलवे को नवीकरणीय ऊर्जा से चलाने का मिशन रखा है.
उन्होंने उद्योग मंडल सीआईआई के एक कार्यक्रम में कहा, ''हमने रेलवे के शत प्रतिशत विद्युतीकरण का निर्णय किया है. करीब 1,20,000 किलोमीटर ट्रैक के साथ हम दुनिया के पहले सबसे बड़े रेलवे होंगे जो पूर्ण रूप से विद्युतीकृत होगा. आप इससे कल्पना कर सकते हैं कि पूरे वातावरण से कार्बन उत्सर्जन में कितनी कमी आएगी.
गोयल ने कहा कि नयी दिल्ली आने वाली आधी से अधिक ट्रेन डीजल पर चल रही हैं लेकिन मंत्रालय उनके विद्युतीकरण पर काम कर रहा हे. अगर ऐसा हो जाता है 2029 तक भारत में चलने वाली सारी ट्रेनें इलेक्ट्रिक इंजन वाली होंगीं और इससे पर्यावरण को बहुत अधिक फायदा होगा. साथ ही भारत की कार्बन उत्सर्जन के क्षेत्र में रैंकिंग में भी सुधार आएगा.
उन्होंने कहा, ''अगले एक साल में नयी दिल्ली में आने वाली ट्रेनें विद्युतीकृत होंगी. हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं, वे सभी बिजली से चलें. उन्होंने यह भी कहा कि रेल मंत्रालय कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने और पर्यावरण संरक्षण को लेकर कई कदम उठा रहा है.

Related News

Leave a Comment