चिन्मयानंद मामले पर योगी सरकार की घेरेबंदी में जुटीं प्रियंका, सड़कों पर उतरेगी कांग्रेस

यूपी में पैर जमाने के लिए कांग्रस ने अपनी सारी ताकत लगा दी है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लगातार यूपी में सक्रिय हैं. सोशल मीडिया के जरिए भी वे यूपी सरकार पर हमले करती रहीं हैं. उन्होंने अपना सारा ध्यान योगी आदित्यनाथ सरकार पर लगा रखा है. स्वामी चिन्मायनंद पर बलात्कार का आरोप लगने के बाद तो प्रियंका गांधी के हमलों में तेजी भी आई है और तल्खी भी. सरकार की घेरेबंदी में वे लगी हैं और पीड़िता के साथ खड़ी दिखाई दे रहीं हैं. प्रियंका गांधी जयंती के मौके पर लखनऊ में सड़कों पर उतरने जा रहीं हैं. पहले कांग्रेस ने न्याय यात्रा निकालने का फैसला किया था लेकिन उसे रद्द कर गांधी जयंती पर सड़कों पर उतरने का फैसला किया है कांग्रेस ने. कांग्रेस ने चिन्मयानंद से ब्लैकमेलिंग मामले में पीड़ित छात्रा की गिरफ़्तारी के खिलाफ मंगलवार को होने वाली न्याय यात्रा को रद्द कर दिया है. कांग्रेस की राष्‍ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के नेतृत्व में अब गांधी जयंती के दिन जनाक्रोश पदयात्रा होगी. इसमें प्रदेश भर के कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल होंगे. चिन्मयानंद मामले में प्रदेश भर में कांग्रेस को प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करना था. लेकिन इसे कंग्रेस ने रद्द कर अब प्रदर्शन के लिए गांधी जयंती का दिन चुना है. कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने बताया कि यूं तो मंगलवार को हर जिले में होने वाले प्रदर्शन को निरस्त कर दिया गया है. अब दो अक्टूबर को लखनऊ में कांग्रेस का आक्रोश मार्च होगा. इस मार्च में कांग्रेस के विधायक, सांसद, पूर्व सांसद और पदाधिकारी शामिल होंगे. उन्होंने बताया कि चिन्मयानंद मामले और सरकार की दमनकारी नीतियों के विरोध में शांतिपूर्ण मार्च निकाला जाएगा. सरकार के खिलाफ इस प्रदर्शन में प्रियंका गांधी भी शामिल होंगी. प्रियंका के नेतृत्व में निकलने वाली पदयात्रा में प्रदेश भर के कार्यकर्ता शामिल होंगे. इससे पहले कांग्रेस ने पीड़ित छात्रा को इंसाफ दिलाने के लिए शाहजहांपुर से लखनऊ तक न्याय पदयात्रा निकालने का एलान किया था, लेकिन प्रशासन ने इसकी मंजूरी नहीं दी और धारा 144 लगा दी. बावजूद इसके कांग्रेस नेताओं ने पदयात्रा निकालने की कोशिश की, जिसके बाद अलग-अलग जिलों में करीब पांच हजार कांग्रेसियों को गिरफ्तार कर लिया गया. इसमें विधानमंडल में नेता कांग्रेस अजय कुमार लल्लू, विधायक आराधना मिश्रा, महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष सुष्मिता देव, एआईसीसी सचिव रोहित चौधरी सहित दूसरे नेता शामिल थे. पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद को नजरबंद कर दिया गया था.सड़कों पर कांग्रेसी गिरफ़्तारी दे रहे थे तो प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर मोर्चा संभाल रखा था. उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट कर प्रदेश सरकार को घेरा. उन्होंने ट्विटर पर भाजपा भगाओ, बेटी बचाओ हैशटैग भी चलाया. प्रियंका ने लिखा कि यूपी में अपराधियों को सरकार का सरंक्षण है कि वो बलात्कार से पीड़ित लड़की को डरा-धमका सकें. लेकिन, यूपी भाजपा सरकार शाहजहांपुर की बेटी के लिए न्याय मांगने की आवाज को दबाना चाहती है. पदयात्रा रोकी जा रही है. हमारे कार्यकर्ताओं नेताओं को गिरफ़्तार किया जा रहा है. डर किस बात का है. इसके बाद प्रियंका ने एक और ट्वीट किया और लिखा कि सत्ता के घमंड में चूर उत्‍तर प्रदेश भाजपा सरकार लोकतंत्र की धज्जियां उड़ा रही है. एक बलात्कार आरोपी को बचाने के लिए और शाहजहांपुर की बेटी को आवाज को दबाने के लिए वह किसी भी हद तक गिर सकती है. प्रदेश सरकार एक घबराई हुई सरकार है. प्रियंका गांधी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद मामले में उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार की तीखी आलोचना करते हुए आरोप लगाया कि भाजपा नेता के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज नहीं किया गया और प्रशासन चिन्मयानंद मंत्री को बचा रहा है. कानून की एक छात्रा ने चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाया था. बाद में 23 साल की छात्रा को पांच करोड़ रुपए मांगने के आरोप में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने गिरफ्तार कर लिया था. प्रियंका ने ट्वीट किया- सिर्फ एक साल पहले शाहजहांपुर के कई प्रशासनिक अधिकारी चिन्मयानंद की आरती उतारते दिखे. मामला अखबारों में उछला था. कांग्रेस महासचिव ने लिखा कि बलात्कार पीड़िता द्वारा पूरी आपबीती कहने के बावजूद बलात्कार का मुकदमा दर्ज नहीं हुआ, कैसे होता, जब पूरा महकमा गले लगाकर उनका बचाव कर रहा था. बहारहाल इसे लेकर कांग्रेस अब आरपार की लड़ाई के मूड में है. लोगों का समर्थन भी कांग्रेस को मिलता दिख रहा है.(राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).

The post चिन्मयानंद मामले पर योगी सरकार की घेरेबंदी में जुटीं प्रियंका, सड़कों पर उतरेगी कांग्रेस appeared first on Fashion NewsEra.

Related News

Leave a Comment