मंदिरों में चैन स्नैचिंग की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 4 महिलाएं गिरफ्तार

दुर्ग। नवरात्रि पर्व के दौरान चंडी मंदिर व पंचमुखी हनुमान मंदिर दुर्ग में महिलाओं के पहने हुए सोने की चैन व मंगलसूत्र चुराने वाली महिला गैंग की चार सदस्यों को कोतवाली पुलिस ने पकडऩे में कामयाबी हासिल की है। चारों महिलाएं कलमना नागपुर(महाराष्ट्र) की निवासी है। गिरोह के पुरुष सदस्यों की पुलिस तलाश कर रही है।

दुर्ग सीएसपी विवेक शुक्ला ने बताया कि पुलिस अधीक्षक प्रखर पांडेय द्वारा नवरात्र पर्व के दौरान शांति सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने एवं अपराधिक तत्वों के धर-पकड़ हेतु निर्देश जारी किए गए थे। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक(शहर) दुर्ग रोहित झा के मार्गदर्शन में लगातार पैदल यात्रियों की सुरक्षा एवं भीड़भाड़ वाले स्थानों एवं मंदिरों में दर्शनार्थियों की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त व्यवस्था लगाई गई थी।

3 अक्टूबर को प्रार्थिया सावित्री नामदेव 70 वर्ष चंडी मंदिर वार्ड निवासी द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराया गया  था कि पंचमुखी हनुमान मंदिर के पास रात्रि 10 बजे मंदिर दर्शन के दौरान किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा उसके गले में पहने सोने का ढाई तोले का हार चोरी कर लिया गया है।

इसी प्रकार 4 अक्टूबर को सावित्री देवी साहू 69 वर्ष ब्राम्हणपारा निवासी द्वारा चंडी मंदिर में रात्रि 8 बजे दर्शन के दौरान उसके गले से पांच तोले का हार चोरी होने की रिपोर्ट लिखाई गई थी। दोनों घटनाओं से यह स्पष्ट हो गया था कि कोई बाहरी गिरोह शहर में सक्रिय है। कोतवाली पुलिस द्वारा आरोपियों के हुलिए, सीसीटीव्ही फुटेज के आधार पर पहचान कर शहर में और वारदातों को अंजाम देने के लिए घूम रही चारों महिलाओं को गिरफ्तार किया गया है।

इनके पकड़े जाने के तुरंत इनके बताये अनुसार रेल्वे स्टेशन के पास इनके डेरे को चेक किया गया, किन्तु तब तक इनके पुरुष सदस्य भाग गए थे। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। पूछताछ में महिलाओं ने दोनों घटनाओं को अंजाम देना स्वीकारा। ये महिलाएं नवरात्र पर्व के तीसरे दिन से दुर्ग रेल्वे स्टेशन के पास डेरा बनाकर रह रहे थे। भीड़भाड़ में घुसकर बुजुर्ग महिलाओं को निशाना बनाते थे।

Related News

Leave a Comment