बच्चों के शेल्टर होम छापा: शराब की बोतलें, यूज्ड कंडोम व दर्जनभर युवतियां पकड़ी गयी

राकेश पाण्डेय
लखनऊ। आगरा के एक शेल्टर होम पर शारीरिक शोषण का आरोप लगा था इस आरोप की जांच करने शेल्टर होम पहुंची राज्य महिला आयोग की टीम के सामने शेल्टर होम की पूरी कहानी खुलकर सामने आ गई। बता दें कि शेल्टर होम में जांच टीम ने शराब और बीयर की खाली बोतलों के अलावा बाथरूम मे यूज्ड कंडोम सहित कई आपत्तिजनक सामानों को जब्त किया है।

ये भी बताया गया है कि बच्चों का ये शेल्टर होम किशोर न्याय अधिनियम में रजिस्टर्ड नहीं है। गौरतलब है कि यहां रह रही एक युवती द्वारा सुसाइड करने की कोशिश के बाद राज्य महिला आयोग की टीम निरीक्षण करने पहुंची थी।बाल कल्याणकारी संस्थाओं से जुड़े नरेश ने बताया, ‘युवती ने शेल्टर होम की ओर से यमुना नदी में छलांग लगा दी थी।

लेकिन जिस जगह वो कूदी वहां पानी कम था। इससे उसके सिर में चोट आई थी। पूछताछ में युवती ने आरोप लगाया है कि उसके साथ तीन साल से गलत काम किया जा रहा है। इसके बाद पुलिस ने फौरन कार्रवाई करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वहीं प्रशासन मामले की जांच कराए जाने की बात कह रहा है।

शेल्टर होम की युवती द्वारा सुसाइड की कोशिश की खबर मीडिया में आने के बाद राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह और सदस्य निर्मला दीक्षित शेल्टर होम पहुंचीं जिसके बाद निरीक्षण में वहां लड़कियों के पास महंगे-महंगे मोबाइल फोन मिले इसके अलावा परिसर में एक जगह शराब की खाली बोतल और बीयर की कैन मिली यही नहीं बाथरूम में यूज्ड कंडोम पड़े हुए थे।

आगरा के जिला प्रोवेशन अधिकारी (डीपीओ) लवकुश भार्गव ने बताया कि इस शेल्टर होम की सोसाइटी तो पंजीकृत है. लेकिन इसे जेजे एक्ट में रजिस्टर्ड नहीं कराया गया है। बड़ा सवाल ये है की बच्चों के शेल्टर होम में बड़ी लड़कियां कैसे रह रही हैं।होम में किसी भी तरह का कोई रिकॉर्ड नहीं रखा गया है।

वहां रह रही एक लड़की बी.एड कर रही है तो एक बीए की पढ़ाई कर रही है। सुसाइड की कोशिश करने वाली लड़की की मेडिकल जांच में उम्र 18 साल आई है। वहां मिली जानकारी के अनुसार इस शेल्टर होम में 11 लड़के और 29 लड़कियां रह रहीं हैं।


Source : upuklive

Related News

Leave a Comment