बंगाल के बुद्धिजीवी हड़ताली चिकित्सकों के साथ

इन बुद्धिजीवियों में प्रसिद्ध अभिनेत्री-फिल्म निर्माता अपर्णा सेन, अभिनेता कौशिक सेन भी शामिल हैं। इन्होंने आंदोलनकारी चिकित्सकों से मुलाकात की और उनके आंदोलन के साथ एकजुटता दिखाई।

अस्पताल परिसर में जूनियर चिकित्सकों की तालियों के बीच अपर्णा सेन ने कहा, हम जानते हैं कि आप में से कोई भी मरीज का इलाज करते समय जाति या धर्म को नहीं देखता। हम यह भी जानते हैं कि आप मरीजों के प्रति दर्द महसूस करते हैं, जो इस गतिरोध की वजह से बिना इलाज के रह गए। हम आपके साथ हैं।

उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री हमारी अभिभावक हैं। मैं उनसे इस मुद्दे पर अपना रुख थोड़ा बदलने और यहां के युवा चिकित्सकों से बात करने का अनुरोध करूंगी। वे आपके बच्चों की तरह हैं। कृपया यहां एक बार आएं और समस्याओं को सुलझाने के लिए उनसे बात करें।

जूनियर चिकित्सक सोमवार की रात को एनआरएस मेडिकल कॉल व अस्पताल में एक मृत मरीज के परिजनों द्वारा दो जूनियर चिकित्सकों पर क्रूर हमले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। राज्य भर के ज्यादातर सरकारी अस्पतालों के चिकित्सकों ने बुधवार से काम बंद कर दिया है।

ममता बनर्जी ने गुरुवार दोपहर बाद कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल का दौरा किया था, जहां उन्होंने आंदोलन कर रहे चिकित्सकों को जारी हड़ताल को चार घंटे में वापस लेने का अल्टीमेटम दिया और समय सीमा के भीतर हालात के सामान्य नहीं होने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी थी।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment