बिहार में सार्वजनिक शौचालयों की निगरानी ग्राम पंचायतों के जिम्मे

पटना, 13 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार में अब सार्वजनिक शौचालयों की निगरानी और रख-रखाव की जिम्मेदारी ग्राम पंचायतों की होगी। ग्राम पंचायत के प्रमुख मुखिया अब शौचालयों की स्वच्छता का भी ख्याल रखेंगे। यही नहीं सरकार ने गांवों में आवासहीन लोगांे के लिए सामुदायिक शौचालय बनाने की योजना बनाई है।

बिहार सरकार का मानना है कि शौचालयों की देखरेख का जिम्मा ग्राम पंचायत के पास रहने से शौचालयों को स्वच्छ रखा जा सकेगा तथा समय-समय पर कुछ क्षति होने पर उसकी मरम्मत भी करवाई जा सकेगी।

बिहार के ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने यहां बताया, राज्य में सार्वजनिक शौचालयों की देखरेख अब ग्राम पंचायतें करेंगी, जिनकी निगरानी मुखिया करेंगे। इसमें किसी तरह की गड़बड़ी होने की संभावना कम रहेगी।

उन्होंने कहा कि आवासहीनों के लिए सरकार जल्द ही सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण करवाएगी, ताकि बिहार को खुले में शौच से पूरी तरह मुक्त किया जा सके।

उन्होंने कहा कि जो भी जिले खुले में शौच से मुक्त होने का दावा करेंगे, उसकी पहले पूरी जांच करवाई जाएगी और उसके बाद ही उसे खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ) घोषित किया जाएगा। उन्होंने माना कि बिहार में कई प्रखंड ओडीएफ घोषित किए गए हैं, परंतु वहां अभी भी सभी घरों में शौचालय नहीं बनने की शिकायतें मिल रही हैं। ऐसे मामलों की जांच करवाई जा रही है।

उल्लेखनीय है कि सरकार इस साल महात्मा गांधी जयंती दो अक्टूबर के पूर्व बिहार को ओडीएफ बनाने की योजना पर काम कर रही है। इसके तहत तेजी से शौचालयों का निर्माण कार्य चल रहा है।

--आईएएनएस



Source : ians

Related News

Leave a Comment