महिला पर्वतारोहण टीम बनाने पर विचार कर रही आईटीबीपी

नई दिल्ली, 15 जुलाई (आईएएनएस)। साहसिक खेलों में महिलाओं की बढ़ती रुचि के साथ, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) एक महिला-पर्वतारोहण टीम बनाने पर विचार कर रही है।

यहां आईटीबीपी के एक अधिकारी ने कहा, हमने देखा है कि महिलाएं कर्मचारी पहाड़ पर चढ़ने और ट्रेकिंग जैसे साहसिक खेलों में काफी रुचि दिखा रही हैं। उत्तराखंड के औली स्थित माउंटेनियरिंग एंड स्कीइंग इंस्टीट्यूट (एम एंड एसआई) से 14 महिलाओं के एक समूह ने पर्वतारोहण का एक एडवांस कोर्स किया है।

अधिकारी ने कहा कि 20 से 30 वर्ष की आयु के बीच की इन महिलाओं ने संस्थान में छह सप्ताह तक व्यापक और कठोर प्रशिक्षण लिया, जहां उन्होंने पर्वतारोहण और ट्रेकिंग की तकनीकों के बारे में सीखा और इसके साथ ही उन्होंने कठिन व प्रतिकूल समय में बचाव अभियान की तकनीक भी सीखी।

अधिकारी ने कहा कि अपने इस एडवांस कोर्स के प्रशिक्षण के दौरान इन महिलाओं ने उत्तराखंड में माना पोस्ट के पास लगभग 17,000 फुट ऊंची एक चोटी पर भी सफलतापूर्वक चढ़ाई की।

उन्होंने कहा, इन महिलाओं को रॉक क्राफ्ट, आइस क्राफ्ट और स्नो क्राफ्ट सहित विभिन्न प्रशिक्षणों को अधिक ऊंचाई पर जीवित रहने की तकनीक के साथ प्रदान किया गया है।

गौरतलब है कि आईटीबीपी की उप महानिरीक्षक अपर्णा कुमार ने 30 जून को उत्तरी अमेरिका में माउंट डेनाली चोटी को फतह कर महिलाओं के लिए एक नजीर पेश की थी।

आईटीबीपी ने जनवरी 2017 में महिला कर्मियों की भर्ती शुरू की थी। इसके बाद से महिला कर्मी अरुणाचल प्रदेश से लेकर लद्दाख तक भारत-चीन सीमा पर तैनात हैं।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment