उप्र में बदमाशों ने की 2 कर्मियों की हत्या, 3 कैदी छुड़ाए

संभल, 17 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के संभल में बदमाशों ने पेशी पर आए कैदियों की गाड़ी पर हमला कर तीन कैदियों को छुड़ाकर भाग गए। हमले में दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए।

संभल के पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि दो सिपाहियों को गोली मारकर तीन कैदी फरार हो गए। दोनों सिपाहियों की इलाज के दौरान मौत हो गई। फरार हुए कैदियों में पहला कैदी कमल बहादुर और दूसरा कैदी शकील ब्रह्मपुरा थाना के बहजोई का और तीसरा कैदी धर्मपाल भगतपुर बहजोई का रहने वाला है। तीनों कैदियों की चंदौसी में पेशी होने के बाद गाड़ी उन्हें लेकर वापस मुरादाबाद जेल लौट रही थी, उसी दौरान यह घटना हुई।

एसपी ने बताया कि घटना में पुलिसकर्मी ब्रजपाल व हरेंद्र की मौत हो गई है। दोनों पुलिसकर्मी पुलिस लाइन बहजोई में तैनात थे। बदमाश एक पुलिसकर्मी की राइफल भी अपने साथ ले गए हैं।

चश्मदीद सिपाही ने बताया कि वह बुधवार को मुरादाबाद जेल में 24 कैदियों को संभल जिले की चंदौसी की अदालत में पेश करने के लिए 6 पुलिसकर्मियों के साथ वैन में गए थे। पेशी कराने के बाद कैदियों को उसी वैन में वापस मुरादाबाद जेल ले जा रहे थे। तभी संभल जिले में देवाखेड़ा गांव के तीन कैदी वैन के भीतर ही सिपाहियों से हाथापाई करने लगे। इसके बाद दूसरे कैदी भी उनका साथ देने लगे।

इस दौरान उन्होंने सिपाहियों के साथ मारपीट कर सरकारी हथियार छीन लिया। विरोध करने पर सिपाही हरेंद्र सिंह और ब्रजपाल सिंह को गोली मार दी। दोनों सिपाहियों ने वैन में ही दम तोड़ दिया। बाकी पुलिस वालों को भी जान से मारने की धमकी देकर तीनों कैदी वैन का ताला तोड़ भाग गए। फरार कैदी पुलिस वालों की सरकारी राइफल भी साथ ले गए।

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस अब फरार हुए कैदियों और बदमाशों की तलाश में जुट गई है। उधर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृत सिपाहियों के परिजनों को 50-50 लाख रुपये का मुआवजा दिए जाने की घोषणा की है। मृतक के परिवार में से किसी एक व्यक्ति को नौकरी भी दिए जाने का ऐलान किया गया है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment