रोहित शेखर मौत मामले में आरोप पत्र पर अदालत शनिवार को करेगी विचार

नई दिल्ली, 19 जुलाई (आईएएनएस)। दिल्ली की एक अदालत शनिवार को दिवंगत कांग्रेस नेता नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत से जुड़े मामले में दायर आरोप पत्र पर विचार करेगी।

रोहित शेखर की पत्नी अपूर्वा शुक्ला पर उनके पति की हत्या का आरोप लगाया गया है। शुक्ला ने इस साल अप्रैल में दक्षिण दिल्ली के आवास पर पति से बहस के बाद उनकी गलाघोंट कर हत्या कर दी थी।

मुख्य महानगर दंडाधिकारी दीपक सेहरावत ने मामले की सुनवाई शनिवार के लिए निर्धारित कर दी। सेहरावत के आज ही इस पर विचार किए जाने की उम्मीद थी।

सुनवाई के दौरान महमूद पारचा ने अपूर्वा शुक्ला की तरफ से पेश होते हुए दलील दी कि आरोपी को भेजे गए आरोप पत्र को पुलिस ने उनके मुवक्किल के खिलाफ मीडिया ट्रायल के लिए मीडिया में लीक कर दिया।

अदालत ने पारचा को इस संदर्भ में जांच का आग्रह करते हुए एक अतिरिक्त हलफनामा दाखिल करने को कहा।

अपूर्वा शुक्ला अदालत के समक्ष शुक्रवार को पेश हुई थी। उन्हें वापस न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने मामले में गुरुवार को 518 पेज का आरोप पत्र दायर किया है। इस आरोप पत्र में 56 गवाहों के बयान के साथ तस्वीरें, सीसीटीवी फुटेज व पोस्टमार्टम रिपोर्ट शामिल है।

पुलिस ने कहा कि पांच चिकित्सकों के एक बोर्ड ने 17 अप्रैल को पोस्टमार्टम किया। इसमें खुलासा हुआ है कि रोहित शेखर की मौत दम घुटने से हुई, क्योंकि उसका गला घोटा गया।

--आईएएनएस



Source : ians

Related News

Leave a Comment