वाराणसी : टीएमसी के बाद कांग्रेस के नेता भी हवाईअड्डे पर रोके गए

वाराणसी, 20 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में सोनभद्र के उभ्भा गांव में हुए हत्याकांड में अब सियासत तेज हो गयी है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को प्रशासन द्वारा बीच में ही रोक दिए जाने के बाद इस कार्रवाई के विरोध में कांग्रेस लगातार विरोध प्रदर्शन कर रही हैं। इसी कड़ी में शनिवार को कांग्रेस नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा, मुकुल वासनिक, राज बब्बर, आरपीएन सिंह, जितिन प्रसाद और राजीव शुक्ला को पुलिस ने वाराणसी हवाईअड्डे पर रोक दिया है। ये लोग पीड़ितों से मिलने के लिए सोनभद्र जाने वाले थे।

वाराणसी के जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह के पहुंचने के बाद सभी नेताओं को बीएचयू ट्रामा सेंटर घायलों से मिलने जाने की अनुमति मिली। फिर दोपहर 12.़50 बजे टीएमसी के सांसद बीएचयू ट्रामा सेंटर के लिए रवाना हो गए। वहीं, दोपहर 1.05 बजे राज बब्बर, जितिन प्रसाद, आरपीएन सिंह समेत सभी कांग्रेसी नेता भी बीएचयू ट्रामा सेंटर के लिए निकले।

इसके पहले तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रयन, सुनील मंडल, अबीरंजन बिस्वास शनिवार को सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों से मिलने जा रहे थे। तभी वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री हवाईअड्डे पर ही पुलिस ने इन नेताओं को रोक लिया। एडीएम प्रशासन, एसपीआरए, सहित पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। टीएमसी के नेताओं को एयरपोर्ट के एप्रन में ही हिरासत में ले लिया गया जिसके बाद से तीनों नेता एयरपोर्ट पर ही धरने पर बैठ गए।

इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को शुक्रवार को मिर्जापुर की नरायनपुर पुलिस चौकी के सामने हिरासत में ले लिया गया था। एसडीएम के वाहन से चुनार गेस्ट हाउस ले जाई गईं जहां प्रियंका ने कांग्रेसी नेताओं के साथ धरना दिया, जिसके बाद शनिवार सुबह सोनभद्र के मृतकों के परिजनों ने चुनार किला स्थित गेस्ट हाउस में प्रियंका से मुलाकात की थी।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment