चीन-फ्रांस वैश्विक चुनौतियों का सामना करें : वांग यी

बीजिंग, 20 जुलाई (आईएएनएस)। चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि चीन और फ्रांस संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य देश हैं, दोनों विश्व शांति व स्थिरता की रक्षा करने का अहम कर्तव्य निभाते हैं। दोनों पक्षों को सामरिक संपर्क और समन्वय को और मजबूत कर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ हाथ मिलाकर विभिन्न वैश्विक चुनौतियों का सामना करने को आगे बढ़ाना चाहिए।

विदेश मंत्री वांग यी ने शुक्रवार को पेइचिंग में फ्रांसिसी राष्ट्रपति के विदेश सलाहकार एमेनुएल बोने के साथ चीन-फ्रांस सामरिक वार्तालाप के प्रमुखों की वार्ता की।

मौके पर वांग यी ने कहा कि दोनों देश स्वतंत्र व्यापार की रक्षा करते हैं, संरक्षणवाद का विरोध करते हैं, संयुक्त राष्ट्र के केंद्रीय अंतर्राष्ट्रीय सिस्टम और अंतर्राष्ट्रीय कानून पर आधारित अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था की रक्षा करते हैं। दोनों को सामरिक संपर्क और समन्वय और मजबूत कर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ हाथ मिलाकर विभिन्न वैश्विक चुनौतियों का सामना करने को आगे बढ़ाना चाहिए।

वांग यी ने कहा कि इस साल चीन और फ्रांस के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 55वीं वर्षगांठ है, जिस का अहम अर्थ है। चीन यूरोपीय संघ के मामलों में चीन की अहम भूमिका को बड़ा महत्व देता है। आशा है कि फ्रांस चीन-यूरोप संबंध के विकास में सक्रिय भूमिका अदा कर सकेगा।

दोनों पक्षों ने आतंक-रोधी समस्या पर विचार विमर्श किया। वांग यी ने आशा जताई कि फ्रांस चीन द्वारा आतंकवादी पर प्रहार करने और सामाजिक स्थिरता व जनता के सुखमय जीवन के लिए अदा किए गए कदमों को समझेगा। एमेनुएल बोने ने कहा कि फ्रांस खुद ही आतंकवादी का शिकार है। फ्रांस इस संदर्भ में चीन के साथ सदिच्छापूर्ण संपर्क करेगा और आपसी समझ को प्रगाढ़ करेगा।

(साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल ,पेइचिंग)

-- आईएएनएस

Related News

Leave a Comment