जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल ने कहा, गुस्से में दिया था बयान

श्रीनगर, 22 जुलाई (आईएएनएस)। जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल सत्यापाल मलिक ने अपना बयान वापस ले लिया है जिसमें उन्होंने कहा था कि आतंकवादियों को कश्मीर लूटने वाले भ्रष्ट राजनेताओं और नौकरशाहों की हत्या करनी चाहिए।

रविवार को कारगिल और लद्दाख पर्यटन पर्व के उद्घाटन के दौरान उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ये सशस्त्र लड़के अपने खुद के लोगों को बिना किसी कारण के मार रहे हैं। वे पीएसओ (निजी सुरक्षा अधिकारियों), एसपीओ (विशेष पुलिस अधिकारियों) की हत्या कर रहे हैं। आप इन्हें क्यों मार रहे हैं? ऐसे लोगों की हत्या करो जिन्होंने तुम्हारे देश को लूटा, जिन्होंने कश्मीर की पूरी संपत्ति को लूटा। क्या आपने इनमें से किसी की हत्या की?

मलिक के बयान से राज्य में बवाल मच गया।

उनके बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, किसी संवैधानिक पद पर विराजमान एक जिम्मेदार व्यक्ति आतंकवादियों से भ्रष्टाचारी माने गए राजनेताओं की हत्या करने के लिए कहते हैं। शायद इन्हें गैरकानूनी रूप से हत्या की इजाजत देने और कंगारू अदालतें चलाने से पहले दिल्ली में इन दिनों अपनी प्रतिष्ठा के बारे में पता करना चाहिए।

राज्यपाल ने सोमवार को एक मीडिया संस्थान से कहा, एक राज्यपाल के तौर पर, मुझे ऐसा बयान नहीं देना चाहिए, लेकिन मेरे निजी विचार वही हैं, जो मैंने कहा। कई राजनेता और बड़े नौकरशाह भ्रष्टाचार में डूबे हैं। मैंने जो भी कहा, वह यहां अनियंत्रित भ्रष्टाचार के कारण गुस्से और निराशा में कहा।

समाचार संस्थान ने अब्दुल्ला के ट्वीट पर मलिक की प्रतिक्रिया का भी हवाला दिया था।

मलिक के हवाले से कहा गया, अब्दुल्ला एक किशोर राजनेता हैं जो हर मुद्दे पर ट्वीट करते रहते हैं। उनके ट्वीट्स पर प्रतिक्रियाएं देखिए, आपको पता चल जाएगा।

--आईएएनएस



Source : ians

Related News

Leave a Comment