मोदी ने कश्मीर पर ट्रंप से मध्यस्थता के लिए कभी नहीं कहा : विदेश मंत्री

नई दिल्ली, 23 जुलाई (आईएएनएस)। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बयान पर मंगलवार को राज्यसभा में विपक्ष द्वारा प्रधानमंत्री द्वारा स्पष्टीकरण देने की मांग के बीच विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने सदन में कहा कि कभी भी ऐसा कोई आग्रह नहीं किया गया।

उन्होंने कहा, इस मुद्दे पर भारत का रुख हमेशा से एक ही रहा है कि पाकिस्तान के साथ सभी लंबित मुद्दों पर सिर्फ द्विपक्षीय वार्ता ही हो सकती है। पाकिस्तान के साथ किसी वार्ता के लिए उसे सीमा पार आतंकवाद को खत्म करना होगा।

जयशंकर ने स्पष्ट रूप से ट्रंप के दावे को खारिज कर दिया और सदन को आश्वस्त किया कि प्रधानमंत्री मोदी ने ऐसा कोई आग्रह नहीं किया है।

कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने का प्रस्ताव देते हुए सोमवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ बैठक के दौरान उनसे पूछा कि क्या वे इस प्रस्ताव पर राजी होंगे।

अमेरिकी राष्ट्रपति के दावे पर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) ने तीखा हमला करते हुए इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री से जवाब मांगा।

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा, कल (सोमवार) रात अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से कही गई बात सुनकर पूरा देश स्तब्ध रह गया कि हाल ही में ओसाका में हुई जी-20 बैठक में भारत के प्रधानमंत्री ने उनसे (ट्रंप) कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने का आग्रह किया था।

हंगामे के बीच सभापति एम.वेंकैया नायडू ने सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment