झारखंड विधानसभा में नारों की जंग

रांची, 24 जुलाई (आईएएनएस)। झारखंड विधानसभा में बुधवार को विपक्ष द्वारा जब वन अधिनियम 1927 में संशोधन पेश किया गया तो जय श्रीराम, भारत माता की जय, जय सरना जैसे नारे लगाए गए।

झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) विधायक कुणाल सारंगी ने संशोधन पर जब स्थगन प्रस्ताव पेश करना चाहा तो विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव ने मामले के सर्वोच्च न्यायालय में लंबित होने की बात कह इसे खारिज कर दिया।

इस पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक बिरंची नारायण ने भारत माता की जय का नारा लगाया। इस पर झामुमो के विधायकों ने आपत्ति जाहिर की। इसका जवाब भाजपा विधायकों ने जय श्रीराम के नारे से दिया। झामुमो के सदस्य सदन के वेल में आ गए और जय सरना के नारे से इसका जवाब दिया।

विधानसभा अध्यक्ष ने सदन को दोपहर बाद 12.30 बजे स्थगित कर दिया। सदन जब फिर शुरू हुआ तो विपक्ष ने वन अधिनियम में संशोधन का मुद्दा उठाया। इससे विधानसभा अध्यक्ष को फिर से सदन को अपरान्ह दो बजे तक के लिए स्थगित करना पड़ा।

संवाददाताओं से बातचीत में कांग्रेस विधायक सुखदेव भगत ने कहा कि जय श्रीराम अभिवादन का तरीका है, लेकिन भाजपा सदस्यों ने यह नारा विपक्षी सदस्यों के प्रति असम्मान प्रदर्शित करने के लिए लगाया।

मौजूदा विधानसभा का यह अंतिम सत्र है। राज्य में 2019 के अंत में चुनाव होने की उम्मीद है।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment