भारत से सिर्फ छद्म युद्ध लड़ सकता है पाकिस्तान : राजनाथ

नई दिल्ली, 26 जुलाई (आईएएनएस)। कारगिल युद्ध में शहीद जवानों की सराहना करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान के साथ सभी युद्धों में जवानों के वीरतापूर्ण कार्य ने उन्हें भरोसा दिया है कि पाकिस्तान भारत के साथ न तो पूर्ण युद्ध और न ही सीमित युद्ध लड़ सकता है। वह सिर्फ छद्म युद्ध लड़ सकता है।

कारगिल युद्ध की 20वीं वर्षगांठ के मौके पर मंत्री ने लोकसभा में कहा कि देश उन जवानों को कभी नहीं भूलेगा, जिन्होंने कारगिल युद्ध में साहस व वीरता का प्रदर्शन किया और देश की गरिमा बचाने के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया।

उन्होंने कहा, कारगिल विजय दिवस के 20 साल पूरे हो गए हैं। मैं इस मौके पर भारतीय सेना के जवानों के धैर्य, वीरता और बलिदान के लिए अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

राजनाथ सिंह ने कहा, जहां तक पाकिस्तान का संबंध है, वह भारत के साथ 1965, 1971 और 1999 में युद्ध में लगा रहा। इन युद्धों में हमारे सैनिकों के वीरतापूर्ण कार्यों को देखने के बाद मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि पाकिस्तान, भारत के साथ न तो पूर्ण युद्ध न ही सीमित युद्ध युद्ध लड़ सकता है। वह सिर्फ छद्म युद्ध लड़ सकता है।

इससे पहले मंत्री ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की और ट्वीट किया कि उनके दृढ़ साहस व सर्वोच्च बलिदान ने देश के सीमाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भी कारगिल युद्ध के जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा, युद्ध हमें हमारे बहादुर जवानों के साहस के बारे में याद दिलाता है, जिन्होंने हमारे पड़ोसी देश के जवानों व घुसपैठियों को हराया।

उन्होंने कहा, मैं सदन की तरफ से उन जवानों के लिए प्रार्थना करता हूं। कारगिल युद्ध सात दिनों तक चला और 26 जुलाई को समाप्त हुआ। इस अवसर को हमारे जवानों के बहादुरी के प्रतीक के तौर पर मनाया जाता है।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने भी जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष से कारगिल युद्ध पर एक चर्चा कराए जाने का आग्रह किया।

--आईएएनएस



Source : ians

Related News

Leave a Comment