उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की दुर्घटना के मामले में निष्पक्ष जांच चाहता है एनसीडब्ल्यू

नई दिल्ली, 29 जुलाई (आईएएनएस)। राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक से आग्रह किया है कि वह यह सुनिश्चित करें कि उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की दुर्घटना के मामले में स्वतंत्र, निष्पक्ष और शीघ्र जांच हो।

दुष्कर्म के इस मामले में आरोपी भाजपा का एक विधायक है।

उन्नाव दुष्कर्म पीड़ित महिला अपनी मामी और चाची तथा वकील के साथ राय बरेली के लिए यात्रा कर रही थीं, तभी उनकी कार को ट्रक ने टक्कर मार दी।

दुर्घटना में दोनों रिश्तेदार महिलाओं की मौत हो गई जबकि उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता और उनके वकील की हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्हें लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह को भेजे एक पत्र में महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा, मीडिया रिपोर्ट के आधार पर हमने मामले में स्वत: संज्ञान लिया है..आपसे आग्रह है कि यह सुनिश्चित करें कि मामले की स्वतंत्र, निष्पक्ष और शीघ्र जांच हो।

एनसीडब्ल्यू ने कहा, दुर्भाग्यपूर्ण घटना को लेकर आयोग गंभीर रूप से चिंतित है। मामले की गंभीरता को देखते हुए आप से निवेदन है कि स्वतंत्र, निष्पक्ष और शीघ्र जांच कराने की कृपा करें और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करें।

इस बीच, दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल सोमवार को उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता का हालचाल जाने पहुंचीं।

उन्होंने कहा कि लखनऊ की किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) से वह पीड़िता को दिल्ली शिफ्ट करने में मदद करेंगी।

मालीवाल ने कहा, डॉक्टरों का कहना है कि महिला और वकील की हालत नाजुक बनी हुई है। उन्हें यह भी लगता है कि एयर एंबुलेंस के माध्यम से घायलों को दिल्ली के शीर्ष अस्पताल में स्थानांतरित कर देना चाहिए। पीड़िता का परिवार भी उन्हें दिल्ली शिफ्ट करना चाहता है। मैं कुछ अस्पतालों के संपर्क में हूं और हम जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार हैं।

कई दूसरी पार्टी के नेताओं ने अस्पताल में जाकर दुष्कर्म पीड़िता और वकील का हालचाल जाना।

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment