कुबुछी अंतर्राष्ट्रीय रेगिस्तान मंच में शामिल हुए 400 प्रतिनिधि

बीजिंग, 29 जुलाई (आईएएनएस)। सातवें कुबुछी अंतर्राष्ट्रीय रेगिस्तान सम्मेलन में दुनिया के 30 से अधिक देशों और क्षेत्रों के 400 से ज्यादा राजनीतिज्ञों, अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों, वाणिज्य जगत के नेताओं, विद्वानों और विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया।

कुबुछी अंतर्राष्ट्रीय रेगिस्तान सम्मेलन 28 जुलाई को चीन के भीतरी मंगोलिया स्वायत्त प्रदेश के कुबुछी क्षेत्र में संपन्न हुआ। इस सम्मेलन का थीम हरित बेल्ट एंड रोड, पारिस्थितिकी सभ्यता का सह-निर्माण रखा गया था।

सम्मेलन में शामिल 400 से ज्यादा प्रतिनिधियों ने कुबुछी रेगिस्तान पारिस्थितिक आर्थिक उद्योग का दौरा किया और हरित बेल्ट एंड रोड, और मानव जाति के समान भाग्य समुदाय, हरित वित्त और अनवरत पारिस्थितिकी बहाली, वैज्ञानिक प्रौद्योगिकी नवाचार और पर्यावरण बहाली, रेतीला-रोधी और किसानों, चरवाहों की आय में बढ़ोत्तरी आदि विषयों पर गहन रूप से विचार-विमर्श किया।

विशेषज्ञों ने सुझाव दिया कि रेतीलीकरण की रोकथाम और उसका निपटारा मानव जाति के कल्याण से संबंधित है। विशेषज्ञों के विचार में चीन ने वैश्विक पारिस्थितिकी पर्यावरण के निपटारे में बड़ा योगदान दिया है। कुबुछी में रेतीला निपटारा बहुत अच्छा नमूना है। कुबुछी नमूने को रेतीलीकरण चुनौती का सामना करने वाले देशों और क्षेत्रों में प्रसार किया जाना चाहिए।

मंच में भाग लेने वाले विशेषज्ञों ने कहा कि वैज्ञानिक प्रौद्योगिकी नवाचार रेतीलीकरण की रोकथाम और निपटारे की कड़ी है, जो कि हरित बेल्ट एंड रोड का महत्वपूर्ण विषय है। हरित वित्त रेतीले-रोधी और रेतीले निपटारे के सतत विकास की गारंटी है।

कुबुछी अंतर्राष्ट्रीय रेगिस्तान मंच हर दो सालों में एक बार आयोजित किया जाता है। अभी तक छह बार सफल आयोजन हो चुका है। यह विभिन्न देशों के बीच रेतीला-रोधी और रेतीले निपटारे के अनुभवों का आदान-प्रदान, संयुक्त राष्ट्र 2030 अनवरत विकास कार्यक्रम की प्राप्ति को आगे बढ़ाने वाला महत्वपूर्ण मंच है।

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

--आईएएनएस

Related News

Leave a Comment