सबसे वृद्ध महिला शॉर्प शूटर्स के साथ रहना तापसी को पसंद आया

मुंबई, 31 जुलाई (आईएएनएस)। अभिनेत्री तापसी पन्नू का कहना है कि फिल्म सांड की आंख में अपने किरदार के लिए तैयारी करते वक्त उन्होंने दुनिया की सबसे वयस्क शॉर्प शूटर्स चंद्रो और प्रकाशी तोमर के साथ वक्त बिताया जिसका उन पर गहरा प्रभाव पड़ा है।

सांड की आंख की कहानी उत्तर प्रदेश के जोहरी गांव से ताल्लुक रखने वाली चंद्रो और प्रकाशी तोमर की जिंदगी पर आधारित है जिन्होंने कथित रूप से अपने जीवन के पचासवें पड़ाव में आकर शॉर्प शूटिंग की शुरुआत की।

चंद्रो और प्रकाशी तोमर को दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला शॉर्प शूटर्स के तौर पर जाना जाता है और चंद्रो को लोग शूटर दादी व प्रकाशी को रिवॉल्वर दादी के नाम से भी जानते हैं।

तापसी फिल्म में प्रकाशी और भूमि पेडनेकर चंद्रो के किरदार को निभा रही हैं।

मेरठ में एक महीने लंबे शेड्यूल को फिल्माते वक्त तापसी चंद्रो के घर पर ठहरी हुई थीं। वह दोपहर का भोजन प्रकाशी के घर और रात का खाना चंद्रो के घर पर खाती थीं।

तापसी ने कहा, यह अब तक का मेरा सबसे बेहतरीन अनुभव रहा है। जोहरी में रहना और इन दो महिलाओं के साथ वक्त बिताना जिनके पास शक्ति और दया की भावना है, प्रेरणादायक रहा।

तापसी ने यह भी कहा, उनसे सुनने के लिए कई सारी कहानियां थी और सीखने को भी काफी कुछ था।

रिलायन्स एंटरटेनमेंट की इस फिल्म से बॉलीवुड में पटकथा लेखक तुषार हीरानंदानी निर्देशक के तौर पर डेब्यू करने जा रहे हैं। इसे अनुराग कश्यप और निधि परमार ने मिलकर प्रोड्यूस किया है। यह फिल्म इस साल दिवाली के आसपास रिलीज होगी।

--आईएएनएस



Source : ians

Related News

Leave a Comment